शिक्षकों ने बनाया शासन पर दबाव…शिक्षक नेता संजय ने कहा…सरकार पूर्ण संविलियन के बाद ही करे शिक्षकों की भर्ती

राज्य शासन ,संतान पालन अवकाश,प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा,छत्तीसगढ़ पंचायत न नि शिक्षक संघ,बिलासपुर— शिक्षक नेता संजय शर्मा ने प्रेस नोट जारी कर कहा है कि सरकार सबसे पहले सभी शिक्षकों का संविलियन करे। इसके बाद चार हजार शिक्षकों की भर्ती करे। क्योंकि आज भी सैकड़ों शिक्षक न्यूनतम वेतन पर संविलियन के इंतजार में काम कर रहे हैं। संविलियन से पहले शिक्षकों की नई भर्ती उनके साथ अन्याय होगा।
                                   संजय शर्मा ने बताया कि शासन ने एलान किया है कि जल्द ही 4000 शिक्षकों की नई भर्ती होगी। शिक्षा मंत्री समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही है। संजय के अनुसार हम नई भर्तियों का स्वागत करते हैं। लेकिन सरकार को भर्ती से पहले पुराने शिक्षकों का संविलियन करना होगा। जबकि शासन को अच्छी तरह से मालूम है कि शासकीय शालाओं में पंचायत, नगर निगम के अधीन समान योग्यता, पात्रता, अर्हता पर नियुक्त शिक्षक संविलियन का इंतजार कर रहे हैं। ऐसे में उन्हें संविलियन करने से पहले नई भर्ती करना उचित नहीं होगा।
        छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा ने बताया कि शासन से मांग है कि पूर्व से न्यूनतम वेतन पर कार्यरत शिक्षकों का संविलियन किया जाना बहुत जरूरी है। विभाग में संविलियन का उनका पहला अधिकार है। सरकार ने जन घोषणा पत्र में भी 2 साल पूर्ण करने वाले शिक्षकों के संविलियन का वादा किया है। इसलिए जरूरी है कि नई भर्ती से पहले पूर्व से कार्यरत शिक्षक संवर्ग का सम्पूर्ण संविलियन करे।
         छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष संजय शर्मा, प्रदेश संयोजक सुधीर प्रधान, वाजीद खान, प्रदेश उपाध्यक्ष हरेंद्र सिंह, देवनाथ साहू, बसंत चतुर्वेदी, प्रवीण श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, प्रांतीय सचिव मनोज सनाढ्य, प्रांतीय कोषाध्यक्ष शैलेन्द्र पारीक ने सामुहिक बयान दिया है कि राजपत्र में इस बात का उल्लेख है कि नवीन भर्ती वाले शिक्षक की वरिष्ठता एल बी संवर्ग के नीचे निर्धारित की जाएगी।
                     इसका सीधा मतलब है कि जुलाई 2019 के नीचे क्रम में नए भर्ती वाले शिक्षकों का नाम आएगा। सवाल उठता है कि जिनका संविलियन नही हुआ है ऐसे शिक्षाकर्मी नए भर्ती के बाद संविलियन होंगे तो उन्हें पूर्व सेवा के आधार पर वरिष्ठता सूची के निर्धारण में नए भर्ती वाले शिक्षकों के ऊपर में नाम रखा जाए। मामले में संघ प्रतिनिधि मंडल को प्रमुख सचिव शिक्षा गौरव द्विवेदी ने शिक्षा कर्मियो की वरिष्ठता प्रभावित नही होने का आश्वासन दिया था। शिक्षक संघ ने इस आशय का आदेश भी शीघ्र जारी करने की मांग की है।
loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...