सीए और गुजराती समाज ने किया हवाई सेवा आंदोलन का समर्थन..सिंधी समाज ने भी मांगी सुविधा..सभी ने लिया बढ़ चढ़कर हिस्सा

बिलासपुर— हवाई सुविधा जन आंदोलन अखंड धरना के 12 वें दिन भी जारी रहा।  12 वें दिन भी प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज ने धरना का समर्थन किया। आंदोलन में गुजराती समाज ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।

                हवाई सुविधा जन आंदोलन धरना के 12 वें दिन प्रगतिशील सतनामी समाज के साथ ही गुजराती समाज ने भी धरना प्रदर्शन का समर्थन किया है। इसके अलावा चार्टेड एकाउंटेन्ट एसोसिएषन ने भी धरना स्थल पहुंचकर हवाई सुविधा की मांग को दुहराया। इसके अलावा सिंधी समाज, कुशवाहा, काछी, पेन्शनर्स संघ के प्रतिनिधिमण्डल ने आंदोलन में भागीदारी कर बिलासपुर में जल्द से जल्द हवाई सेवा दिए जाने की  मांग की ।

                संघर्ष समिति के लोगों ने बताया कि सर्वसुविधायुक्त एयरपोर्ट की मांग को लेकर आंदोलन को व्यापक जनसमर्थन मिल रहा है। समिति का दावा है कि विभिन्न जनसंगठन के लोग लगातार धरने में शामिल होने के लिये संपर्क कर रहे है। समिति का फैसला है कि 
आंदोलन को दीर्घ समय तक तक जारी रखने के लिए  प्रतिदिन एक-एक संगठन ही धरना स्थल पहुंचकर आंदोलन का समर्थन करें।

                 धरना प्रदर्शन के दौरान गुजराती समाज के अध्यक्ष ललित पुजारा ने कहा कि
बिलासपुर का एयरपोर्ट के निर्माण के बगैर विकास अधूरा है। बहुत सारे व्यवसायिक
संस्थान बिलासपुर में एयरपोर्ट नही होने के कारण दिलचस्पी नहीं ले रहे है। सीए एसोशिएशन
की तरफ से जोशीला भाषण दिया। सचिव दिनेश अग्रवाल ने कहा कि
छत्तीसगढ में खनिज निकालने के लिए सभी सरकारे तत्पर रहती है। लेकिन आवागमन की
सुविधा की किसी का ध्यान नहीं जाता है। एयरपोर्ट के आंदोलन के अलावा अन्य बहुत
सी मांगो के लिए बिलासपुर के लोगों को जन आंदोलन खड़े करने की जरूरत है।

           गुजराती समाज के डाॅ. संजय मेहता ने शेर-ओ-शायरी के साथ अपनी बातों को रखा। उन्होने कहा कि बिलासपुर के लोग भीख नहीं अपना अधिकार मांग रहे है। हजारों करोडों का राजस्व बिलाससपुर से मिलता है। लेकिन बदले में बिलासपुर को कुछ भी हासिल होता नजर नहीं आ रहा है।

                 सिंधी सेन्ट्रल पंचायत के अध्यक्ष किशोर गेंमनानी ने सभा को संबोधित किया। उन्होने कहा कि बिलासपुर का व्यापार लगातार छोटा जिला होने के कारण घटता जा रहा है। जबकि एयरपोर्ट आने से इसमें नयी जान आएगी। पेन्सनर्स संघ के हनुमान प्रसाद शुक्ला ने बताया कि कहना गलत होगा कि हवाई सुविधा केवल बडे़ लोगो के लिए ही आवागमन का साधन है।  आज
मध्यम वर्गीय भी हवाई सेवा का उपयोग करता है। 

           12 वें दिन धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में गुजराती समाज की तरफ से जितेन्द्र गांधी, अमरीश  मेहता, राजू भाई, रमेश जोबनपुत्रा, अशोक मेहता, अरविन्द भानूशाली, हेमन्त चौहान, गिरीश
कुमार सांवरिया, भरत मारू हुए।  सीए एसोसिएषन की तरफ से अमित शुक्ला, मनीष दुबे, सिरमित सिंह, सुरेन्द्र कुमार जैन, विवेक अग्रोहा, दिनेश श्याम पटेल समेत कई सीए ने हवाई सेवा का होना उचित बताया। सिंधी समाज की ओर से विजय छुगानी, अमित  नागदेव, विनोद जीवनानी, मोहन मोटवानी, राॅबिन वाधवानी, कैलाश मोटवानी ने धरना प्रदर्शन में हिस्सा लिया।                

              धरना आंदोलन को रोज की तरह  रामदुलारे रजक, अशोक भण्डारी, विरेन्द्र सोमावार, डाॅ.तरू तिवारी, मनोज तिवारी, सुदीप श्रीवास्तव, महेश दुबे, देवेन्द्र सिह, अभय नारायण राय, यतीष गोयल, बद्री यादव,  दीपांषु श्रीवास्तव, संजय पिल्ले, नागेष्वर साहू, अनिल शुक्ला, अभिषेक सिंह, राजा अवस्थी, गोपाल दुबे, भुट्टो राज, केषव गोरख, अमित नागदेव, नंद भाग सिंह, संजय
भास्कर, अमर बजाज, त्रशि पाण्डेय विरेन्द्र सोमावार समर्थन दिया।
कल तेरहवें दिन धरना आंदोलन में भोजपुरी एवं पाटलिपुत्र समाज बिलासपुर के
प्रतिनिधि षामिल होगें।
हवाई सुविधा जन स ंघर्ष समिति
बिलासपुर (छ

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...