मस्तूरी में भी समर्थन मूल्य की मांग…कांग्रेसियों ने कहा…किसानों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे

बिलासपुर—-  प्रदेश मुखिया भूपेश बघेल और कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के दिशा निर्देश पर मस्तूरी ब्लाक में भी केन्द्र सरकार की रीति नीति के खिलाफ कांग्रेस नेताओं ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेसियों ने मोदी सरकार को किसान विरोधी बताया। साथ ही धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपए करने को कहा। 
 
              जनपद मुख्यालय मस्तरी और सीपत ब्लाक कांग्रेस कमेटी ने भी एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर मोदी सरकार पर निशाना साधा। धरना प्रदर्शन में कांग्रेस नेताओं ने मोदी सरकार की किसान विरोधी नीतियों की जमकर आसलोचना की। मस्तूरी में धरना प्रदर्शन की अगुवाई मस्तूरी ब्लाक अध्यक्ष शंकर यादव, प्रदेश कांग्रेस सचिव रवि श्रीवास और सीपत ब्लाक अध्यक्ष राजेन्द्र धीवर ने की।
 
                      मस्तुरी में कांग्रेसियों की सभा को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता अभयनारायण ने संबोधित किया। राय ने कहा कि विधानसभा चुनाव में छत्तीसगढ़ की जनता ने भूपेश बघेल को सरकार बनाने को कहा। लोकसभा चुनाव में नौ सीट पर भाजपा को जीत मिली। जब प्रदेश सरकार ने किसानों को बोनस और धान का उचित मूल्य देने का फैसला किया तो भाजपा सांसदों को तकलीफ होने  लगी है। भाजपा नेता नहीं चाहते कि किसानों को धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपए मिले।  दरअसल भाजपा की रीती और नीति हमेशा से ऐसी ही रही है।
 
                   अभय ने बताया कि मोदी को छत्तीसगढ़ की बिजली ,पानी, बाक्साइट ,लोहा कोयला से बहुत प्यार है। लेकिन किसानों की बुरी स्थिति और उनके पैदावार से किसी प्रकार का सरोकार नहीं है। भूपेश सरकार ने फैसला किया है कि किसानों के हित से किसी को खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा। यदि किसानों के निवेदन पत्र को गंभीरता से नहीं लिया गया तो जरूरत पड़ने पर उग्र आंदोलन किया जाएगा।  फिर चाहे बिजली, पानी और न कोयला की सप्लाई ही क्यों ना बन्द करनी पड़े। 
             
               प्रदेश कांग्रेस कमेटी सचिव रवि कुमार श्रीवास ने कहा कि भूपेश सरकार ने किसानों के हित के लिए अंतिम दम तक लड़ने का फैसला किया है। रवि श्रीवास ने अपने भाषण में किसानों के हित के लिए बनायी गयी कांग्रेस सरकार की कमोबेश सभी योजनाओं को सिलसिलेवार पेश किया। रवि ने कहा कांग्रेस सरकार ने किसानों के हितों को ध्यान में रखकर योजना बनाए हैं। हरित क्रांति और सहकारिता के क्षेत्र में किए गए काम आज भी याद किए जाते हैं। 
 
               रवि ने बताया कि कांग्रेस सरकार ने किसानों को सस्ते दर पर ॠण सुविधा दी है। जब तब किसानों के कर्ज माफ हुए है। लेकिन भाजपा सरकार को पूंजीपतियों के सामने किसानों का खड़ा होना रास नहीं आ रहा है।  बीजेपी सरकार नही चाहती कि किसानों को 2500 रूपए समर्थन मूल्य मिले। यही कारण है कि आज तक मोदी सरकार ने स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू नहीं किया है। 
                    आन्दोलन को पूर्व विधायक दिलीप लहरिया ने संबोधित किया। भाजपा की जनविरोधी रीति नीति पर निशाना साधा। लहरिया ने कहा कि प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल के नेतृत्व में किसानों की लड़ाई परिणाम आने तक जारी रखेंगे। राजकुमार अंचल श्याम कश्यप, राजेश्वर भार्गव , वीरेन्द्र शर्मा समेत सभी कई कांग्रेसियों ने अपनी बातों को रखा।
 
                धरना स्थल पर सैकड़ों किसानों ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखा। केन्द्र सरकार से धान का समर्थन मूल्य 2500 करने को कहा। धरना प्रदर्शन में प्रमुख रूप से क्षेत्र के पूर्व विधायक दिलीप लहरिया,प्रदेश प्रवक्ता अभयनारायण राय प्रदेश संयुक्त महामंत्री राजकुमार अंचल और प्रदेश सचिव रवि कुमार श्रीवास समेत जिला कांग्रेस कमेटी प्रभारी श्याम कश्यप, अरविंद लहरिया,वीरेन्द्र शर्मा, मेघनाथ खाण्डेकर, पिन्टू जांगड़े, बादल खूंटे,राजेश्वर भार्गव ,लखन टंडन, काँति भारद्वाज, राहुल राय , दामोदर कांत, अमित पाण्डेय, मनोज कुर्रे समेत किसानों की उपस्थिति देखने को मिली।
 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *