AyodhyaVerdict: अयोध्‍या पर फैसले को लेकर देशभर में अलर्ट, कई जगह स्‍कूल-कॉलेज सोमवार तक बंद

नई दिल्‍ली– AyodhyaVerdict: उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) राजनीतिक दृष्टि से संवेदनशील राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद (Ayodhya Dispute) मामले में शनिवार को फैसला सुनायेगा. प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ , न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर की पांच सदस्यीय संविधान पीठ शनिवार की सुबह साढ़े दस बजे यह फैसला सुनायेगी. संविधान पीठ ने 16 अक्ट्रबर को इस मामले की सुनवाई पूरी की थी. पीठ ने छह अगस्त से लगातार 40 दिन इस मामले में सुनवाई की.

लखनऊ में सारे स्‍कूल-कॉलेज, शिक्षण संस्‍थान और प्रशिक्षण संस्‍थान सोमवार तक के लिए बंद कर दिए गए हैं. वहीं सोशल मीडिया पर किसी भी प्रकार के दुष्प्रचार या किसी भी सम्प्रदाय के खिलाफ भड़काऊ कंटेंट के प्रसार पर नजर रखने के लिए देशभर के राज्‍यों की पुलिस अलर्ट मोड में है. अयोध्‍या में 1600 जगहों पर 16 हजार वॉलंटियर तैनात किए हैं. गड़बड़ी रोकने के लिए 3000 लोगों को चिह्नित करके उनकी निगरानी की जा रही है.

अयोध्या पर आने वाले फैसले की तैयारी शुरू

लखनऊ पुलिस ने 24 घंटे चलने वाला इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम बनाया. इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम का नंबर 9454405156. लखनऊ को 5 सुपर जोन,14 जोन,98 सेक्टर में बांटा गया. 4 कंपनी पैरा मिलिट्री,10 कंपनी पीएसी राजधानी में तैनात. 257 हॉटस्पॉट चिन्हित किए गए. राजधानी में 150 बैरियर,8 जगहों पर बॉर्डर सील.

वहीं अयोध्या के फैसले के मद्देनज़र भोपाल के सारे स्कूल कालेज कल बंद रहेंगे. धारा 144 भी लागू रहेगी. वहीं अयोध्या पर फैसले से पहले उप्र के डीजीपी ओपी सिंह ने संदेश देते हुए कहा है कि सोशल मीडिया पर कोई भी मैसेज फॉरवर्ड करने से पहले उसकी सत्यता परख लें. पुलिस सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर नज़र रख रही है. अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख़्त कार्रवाई होगी.

फैसले के मद्देनजर अयोध्या जिले को चार जोन में बांटा गया है. रेड, येलो, ग्रीन और ब्लू में जोन में बांटे गए जिले में 48 सेक्टर बनाए गए हैं. सबसे बड़ी बात विवादित परिसर को रेड जोन में रखा गया है. सुरक्षा योजना इस तरह बनाई गई है कि एक आदेश पर पूरी अयोध्या को सील किया जा सकेगा. अर्धसैनिक बलों की अतिरिक्त 100 कंपनियां मांगी गई हैं. यहां सुरक्षाबलों की 47 कंपनियां अभी भी तैनात है.

रेलवे ने आरपीएफ की छुट्टियां रद्द कीं

रेल पुलिस (आरपीएफ) ने भी एडवाइजरी जारी की है. सभी जोन कार्यालयों को भेजे गए दस्तावेज में प्लेटफॉर्म, स्टेशन और यार्ड पर खास निगरानी रखने को कहा गया है. साथ ही हिंसा की दृष्टि से संवेदनशील और ऐसे स्थानों की पहचान करने को कहा है, जहां असामाजिक तत्व विस्फोटक छुपा सकते हैं. आरपीएफ ने अपने सभी कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं और अयोध्या पर फैसला आने से पहले रेलगाड़ियों में भी अतिरिक्त बल तैनात करने की बात कही है.

मुंबई, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के स्टेशनों समेत भीड़भाड़ वाले 78 स्टेशनों पर सुरक्षा बढ़ाने को कहा गया है साथ ही, रेलवे स्टेशन और आस-पास मौजूद धार्मिक स्थानों की खास निगरानी करने को कहा गया है. वहीं दिल्ली पुलिस ने कहा है कि अयोध्या मामले में संभावित आदेश को देखते हुए हम व्यापक पुलिस व्यवस्था की योजना बना रहे हैं और सभी एहतियाती कदम उठाए जाएंगे. जिला पुलिस उपायुक्तों और हाउस स्टेशन ऑफसरों को सामुदायिक संवेदनशील क्षेत्रों में निगरानी बढ़ाने और गश्त तेज करने का निर्देश दिया गया है.

कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल ने अपने धमाकेदार प्रेस कॉन्फ्रेंस को रद्द कर दिया . कहा गया है कि कल (09-11-2019) प्रेस कॉन्फ्रेंस जिसे पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता श्री कपिल सिब्बल द्वारा संबोधित किया जाना था, को रद्द कर दिया गया है. कृपया एक ही नोट करें और इससे हुई असुविधा के लिए क्षमा करें.

मुंबई पुलिस ने कहा है कि आप सभी को शुभ संध्या! मुंबई पुलिस स्थिति से अवगत है और हम कड़ी निगरानी रख रहे हैं. कल के लिए हमारी तैयारी शुरू हो गई है. पर्याप्त बंदोबस्त तैनात किए जा रहे हैं. तैनाती का सटीक विवरण जल्द ही साझा किया जाएगा. मैं सभी से धैर्य रखने का अनुरोध करता हूं. मैं जल्द ही आपको एक बाइट में अपडेट करूंगा. धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *