कांग्रेस नेता ने कहा…शासन प्रशासन को बधाई..फैसले का जनता ने किया स्वागत..क्योंकि देश बड़ा है..

अरविन्द शुक्ला,ब्लाक कांग्रेस 2 अध्यक्ष
बिलासपुर—- ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष अरविन्द शुक्ला ने अयोध्या मसले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। अरविन्द ने बताया कि खुशी होती है कि तनाव के क्षण में हमारा देश रूप रंग जाति धर्म भूलकर एक नजर आने लगता है। ऐसा पहली बार ही नहीं हुआ है। अयोध्या मसले पर 2010 में इलाहाबाद हाइकोर्ट के फैसले के समय से लेकर इस बार भी देश ने सहिष्णुता का परिचय दिया है। हमारी एकता का यह सबसे बड़ी मिसाल भी है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे
 
                  युवा कांग्रेस नेता ब्लाक 2 के अध्यक्ष अरविन्द शुक्ला ने बताया कि 27 सितम्बर 2010  लोगों को आज भी याद है। अयोध्या मसले पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने फैसला सुनाया था। जब फैसला आने वाला था उस दौरान देश में अजीबो गरीब तनाव का माहौल देखने को मिला था। शासन ने अपने स्तर पर लोगों से शांति और एकता की अपील के साथ व्यापक स्तर पर सुरक्षा के प्रबंध किए थे। पूरे देश में हाई अलर्ट घोषित किया गया था। देश के बहुत बड़े हिस्से खासकर उत्तर भारत में तनाव को देखते हुए कर्फ़्यू लगाया गया था। लेकिन इस माहौल में भी देश ने संयम नहीं खोेया। सभी धर्मों के लोगों ने कंधे से कंधा मिलाकर आदर्श स्थिति में अपनी भूमिकाओं का शांति के साथ निर्वहन किया।
 
                  साल 2010 के बाद एक बार फिर सुप्रीम के फैसले के आने के पहले देश में सुरक्षा के मद्देनजर सुरक्षआ के व्यापक प्रबंध किए गए। हर तरफ शांति का वातावरण बनाने शासन प्रशासन ने शांति और भाईचारा का संदेश दिया। यहां एक बार फिर विभिन्न धर्म सम्प्रदाय के भारतीयों कंधे से कंधा मिलाकर ना केवल देश में अमन चैन को बरकरार रखा। बल्कि सीना तानकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को सुना भी। बाद में सभी लोग अपने काम धाम में रत हो गए। 
 
             अरविन्द ने बताया कि कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद सामान्य जनजीवन हमेशा की तरह देखने को मिला। देश के किसी कोने…खासकर छत्तीसगढ़ और बिलासपुर की जनता अपने धुन में दैनिक जीवन के कामकाज को निपटाया। ऐसा कर उन्होने जाहिर किया कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला…स्वागत योग्य है…यदि कुछ कमी है तो कानून का अपना काम है। हमारा अपना जीवन है।
     
                 अरविन्द ने बताया जब सुप्रीम कोर्ट फैसला सुना रहा था। उस समय पूरा देश अपने फैसला सुनने के बाद अपने काम काज में रम गया। ऐसी सहिष्णुता केवल भारत में दिखाई देती है। ऐसे में जब लोग कहते हैं कि देश असहिष्णुता जड़ जमा रही है…सुनकर हंसी आती है। जानने वाली बात है कि देश 2010 के बाद कई कदम आगे बढ़ चुका है। क्योंकि जनता का अहसास है कि कानून का अपना काम है…और हमारा काम अपना है।
 
                               कांग्रेस नेता ने शांति व्यवस्था कामम रखने के लिए शासन और प्रशासन और आम जनता को शुभकामनाएं दी है। शुक्ला ने बताया कि देश का लोकतंत्र काफी परिपक्व हो चुका है। सरकार किसी की भी हो…लेकिन समाज में भाईचारा को बनाकर रखना है। छत्तीसगढ़ की कोंग्रेस सरकार भी इस बात के लिए बधाई की हकदार है कि भाईचारे के अटूट रिश्ते को कहीं भी दरकने नहीं दिया। खासकर बिलासपुर की जनता के साथ छत्तीसगढ़ की जनता को इस बात के लिए विशेष शुभकामनाएं।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...