पीसीसी प्रमुख ने कहा..धान खरीदो अन्यथा आर्थिक नाकाबन्दी…संगठन को बताया..बन्द करो तेरा-मेरा..2023 में भी बनेगी सरकार

बिलासपुर— नेहरू चौक पर कांग्रेस नेताओं ने पीसीसी अध्यक्ष मोगन मरकाम की अगुवाई में केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर धरना प्रदर्शन किया। केन्द्र सरकार पर खुलकर निशाना साधा। मरकाम ने कहा बिजली पानी, कोयला,बाक्साइट लेने के लिए केन्द्र सरकार ने कभी मना नहीं किया। जब किसानों के हित की बात आती है तो हाथ ऊपर खड़ा कर देती है। यदि केन्द्र ने किसानों से समर्थन मूल्य में धान नहीं खरीदती है तो हमें कोयला,पानी,बिजली,बाक्साइट देने से पहले विचार करना होगा। ऐसी सूरत में आर्थिक नाकाबंदी से इंकार नहीं किया जा सकता है। 

                          नेहरू चौक पर विशाल जनसभा और धरना प्रदर्शन को संबोधन के बाद पत्रकारों को मोहन मरकाम ने बताया कि केन्द्र सरकार को गरीब किसानों का धान 2500 रूपए के हिसाब से खरीदना ही होगा। केन्द्र सरकार को प्रदेश के खनिज को लेने में कोई एतराज नहीं है। खनिजों को पूंजीपतियों को बेचा जा रहा है। अंधाधुंध दोहन किया जा रहा है। लेकिन गरीब किसानों को मात्र 2500 हजार रूपए में धान खरीदना मंजूर नहीं है। यह अन्याय हरगिज नहीं बर्दास्त नहीं किया जाएगा। 

                  मोहन मरकाम ने बताया कि आज से 11 महीने पहले कांग्रेस की सरकार भूपेश बघेल की अगुवाई में बनी। शपथ लेने के मात्र दो घंटे के अन्दर भूपेश बघेल ने जनघोषणा पत्र में किए गए वादे के अनुसार ना केवल समर्थन मूल्य बढ़ाया। बल्कि बोनस देकर धऱतीपुत्रों के चेहरे को खुशी दी। आज हम केन्द्र से कहते हैं कि किसानों का धान हम 2500 की कीमत में खरीदेंगे। तो केन्द्र सरकार का दो टूक जवाब होता है कि वह केन्द्रीय पूल का चावल नहीं खरीदेंगे। 13 नवम्बर को कार्यकारिणी की बैठक होगी। फैसला किया गया जाएगा कि हमें किसानों की मांग को लेकर दिल्ली कब कूच करना है। यदि केन्द्र ने किसानों का 2500 रूपए में धान नहीं खरीदा तो बिजली,पानी,कोयला,बाक्साइट को बाहर जाने के खिलाफ आर्थिक नाकेबन्दी किया जाएगा।

                      मोहन ने बताया कि एक महीने बाद निगम और निकाय चुनाव होना है। बताते चलें कि हमने पन्द्रह साल पुरानी तानाशाह और किसान विरोधी सरकार को उखाड़ फेंका है। जनता ने पन्द्रह साल पुरानी सरकार को 15 सीट देकर विपक्ष मैं बैठा दिया। रिकार्डतोड़ जीत के साथ कांग्रेस की सरकार बनी। अभी उप चुनाव में जीत हासिल कर सदन में कांग्रेस की सीट बढ़कर 68 से 69 हो गयी है। अब निकाय चुनाव में ही यही होगा। बिलासपुर में रिकार्ड तोड़ जीत हासिल कर मेयर की सीट पर कांग्रेस का कब्जा होगा। 70 सीटों पर कांग्रेस की रिकार्ड तोड़ जीत होगी।

                  निकाय चुनाव पर मरकाम ने कहा कि अब तेरा और मेरा का खेल नहीं चलने वाला है। टिकट उसी को दिया जाएगा। जिसने संगठन और जनता की सेवा की है। पिछले दरवाजे से टिकट दिए जाने का सवाल ही नहीं उठता है। निकाय चुनाव में बूथ स्तर पर आवेदन लिया जाएगा। ब्लाक,जिला स्तर से होकर आवेदन राज्य स्तर तक पहुंचेगा। प्रत्याशी पर विचार विमर्श किया जाएगा। योग्य जुझारू,कर्मठ और कांग्रेस के सेवक को टिकट दिया जाएगा। उन्होने इस दौरान शहर और ग्रामीण अध्यक्ष से दो टूक कहा कि तेरा और मेरा का खेल नहीं चलेगा। पिछली बार ऐसा हुआ था। अब ऐसा कुछ करने की कोशिश भी नहीं होनी चाहिए। बातों ही बातों में पीसीसी अध्यक्ष ने बताया कि साल 2023 में विधानसभा चुनाव में किसान,गरीबो,युवाओं और व्यापारियों के सहयोग से कांग्रेस की सरकार फिर बनेगी।

                       मोहन मरकाम ने बताया कि केन्द्र सरकार फेडरल व्यवस्था को बरबाद कर रही है। केन्द्र में जब मनमोहन सिंह की सरकार थी तो रमन सरकार ने अनाप शनाप रिकार्ड बताकर जमकर घोटाला किया। किसानों के नाम पर छूट ली। मोदी की सरकार आयी तो बोनस के नाम पर छूट मांगी। और मिला भी….। लेकिन कांग्रेस सरकार को छूट या किसानों को 2500 रूपए समर्थन देने से साफ मना कर दिया। इस प्रकार की तानाशाही को किसी भी सूरत में प्रदेश की जनता बर्दास्त नहीं करेगी। खासकर किसानों के साथ अन्याय को बर्दास्त नहीं किया जाएगा। लोकतंत्र के ढांचे से खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा।

                                 

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...