मुस्लिम और सेन समाज का आंदोलन को समर्थन…प्रतिनिधियों ने बताया.. सरकार को बनाना होगा एयरपोर्ट

18 वें दिन हवाई सेवा सुविधा आंदोलन को मुस्लिम और सेन समाज से मिला समर्थन

बिलासपुर—- राघवेन्द्र राव सभा भवन के सामने लगातार 18 वें दिन हवाई सुविधा जन आंदोलन का अखंड धरना जारी है। आंदोलन के 18 वें दिन मुस्लिम जमात बिलासपुर और श्रीवास समाज ने जनआंदोलन का समर्थन किया। समाज के लोगों ने बिलासपुर से दिल्ली,मुम्बई कोलकाता के लिए सीधे उडान सेवा की मांग की है।

             हवाई सुविधा जन संघर्श समिति का अखंड धरना आंदोलन लगातार  जारी है। 18 वें दिन मुस्लिम जमात और श्रीवास समाज के प्रतिनिधिमंडल ने धरना स्थल पहुंचकर आंदोलन का समर्थन किया।

                     सभा को संबोधित करते हुये मुस्लिम जमात बिलासपुर के वहीदुल्ला भाई और हाजी अजिमुद्दीन ने कहा कि बिलासपुर वासियों को हवाई सुविधा के लिए संघर्ष करना दुखद है। यह जानते हुए भी कि बिलासपुर प्रदेश का दूसरा बड़ा और कमाई देने वाला अग्रिम शहर है। बिलासपुर से दिल्ली-मुंबई-कोलकाता-बैंगलौर प्रमुख महानगरों तक सीधी हवाई सुविधा की बहुत जरूरत है। इसलिए बिलासपुर में भी रायपुर की तरह पूर्ण सुविधायुक्त एयरपोर्ट को होना जरूरी है। 

                सभा को मजहर भाई एसईसीएल ने भी संबोधित किया। उन्होने कहा कि एयरपोर्ट के लिए आवश्यक भूमि की व्यवस्था करना राज्य सरकार का काम है। सर्वसुविधायुक्त एयर पोर्ट में 2500 मीटर लंबा रनवे और नया टर्मिनल भवन होना जरूरी है। हाजी अतहर भाई ने कहा कि एयरपोर्ट निर्माण में लगभग  150 करोड़ रूपए का खर्च है। राज्य और केन्द्र सरकार अकेले या मिलकर खर्च को वहन कर सकती है।

                   धरना आंदोलन में मुस्लिम जमात के अनीस अहमद, असलम खान, रिजवान अंसारी, अब्दुल शाबिद कुरैशी  समीर अहमद, मुशर्रफ हुसैन, मो. अनवर सिद्दीकी, रिजवान अहमद, अब्दुल रज्जाक, रशीद बख्श , मोहम्मद इरशाद हुसैन, समीर अहमद, अकबर खाँ, आरिफ मुमताज खान, नुरूल हुदा, मो.नौशाद, मो.शमीम खान, अब्दुल मजीद कुरैशी शामिल हुए।

                श्रीवास  समाज से चित्रकान्त श्रीवास ने उपस्थित लोगों को संबोधित किया। चित्रकांत ने बताया कि 1988 में बिलासपुर के चकरभाठा हवाई अड्डे से वायुदूत की उड़ाने भोपाल और  इंदौर के लिए हुआ करती थी। बाद में बिलासपुर हवाई अड्डे का विस्तार करने की तरफ किसी ने भी ध्यान नहीं दिया। लेकिन अब केन्द्र और राज्य सरकार को इस तरफ ध्यान देना होगा।

 

             सेन समाज से ही अमित श्रीवास ने  कह कि वर्तमान में चकरभाठा एअरोड्रम की चौड़ाई 30 मीटर और लम्बाई 1500 मीटर है। यहां से 78 सीटर विमान का संचालन किया जा सकता है।  वर्तमान में एयर इंडिया, स्पाईस जेट और इंडिगो के पास ऐसे विमान उपलब्ध है। जिनका संचालन बिलासपुर से तुरन्त और आसानी से किया जा सकता है। धरना में सेन समाज से  मनोज श्रीवास, महेश श्रीवास, सुनील श्रीवास, लक्ष्मी श्रीवास, मोहन श्रीवास, दीपक श्रीवास, देवेन्द्र श्रीवास, रवि श्रीवास, नरेन्द्र श्रीवास, हेमन्त दिघ्रस्कर ने शिरकत किया।

            धरना में राकेश षर्मा, अशोक भण्डारी, रामशरण यादव, महेश दुबे, राजेश जायसवाल, गोपाल दुबे, कप्तान खान, अशोक छाबडा आशीष खत्री, डाॅ.तरू तिवारी, बद्री यादव, रामदुलारे रजक, दीपांशु श्रीवास्तव, कमल सिंह ठाकुर, गोपाल दुबे, चित्रकान्त श्रीवास बी के भीमटे भुवनेश्वर शर्मा, केशव गोरख, अमित नागदेव, विजय गुर्जर, राजू खटिक, कमलेश दुबे, संजय पिल्ले जसबीर गुंबर, सुधीर चैधरी, शुभम मसीह, अनुसुईया राठौर, अरविंद यादव, अनिल शुक्ला, सुधीर कुमार, अजीत पंडित, बजरंग गुप्ता  ने भाग लिया।

                 जन आंदोलन समिति ने बताया कि धऱना प्रदर्शन में उन्नीसवेें दिन यादव समाज का प्रतिनिधि मंडल शिरकत करेगा।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...