पत्रकारों ने कहा..आदत को जगाना होगा..बिना संघर्ष बिलासपुर को कुछ हासिल नहीं हुआ..स्वर्णकार समाज ने दिया हवाई सेवा संघर्ष समिति को समर्थन

बिलासपुर– हवाई सुविधा जन आंदोलन अखंड धरना के 25 वें दिन प्रेस क्लब ने भी समर्थन किया। समिति के सदस्यों ने बताया कि बिलासपुर प्रेस क्लब ने हमेशा से क्षेत्र और जनहित में काम किया है। बड़ी से बड़ी उपलब्धियों और संघर्ष मेैं बिलासपुर प्रेस का अहम योगदान रहा है। रेलवे जोन आंंदोलन को आज भी कोई नहीं भूला है। केन्द्रीय विश्वविद्यालय आंदोलन भी इन उपलब्धियों में एक है। 

              अखण्ड धरना आंदोलन को वरिष्ट पत्रकार निर्मल माणिक ने संबोधित किया। आक्रोश जाहिर करते हुए माणिक ने कहा कि बिलासपुर के लोगों को पुराना आंदोलन करने की आदत को फिर से जगाना होगा। क्योंकि बिलासपुर को बिना संघर्ष किए  कुछ भी हासिल नहीं हुआ है।  वरिष्ठ पत्रकार पियूषकान्त मुखर्जी ने 1988 के वायुदूत सेवा को याद किया। उन्होने कहा कि अगर वायु सुविधा बिलासपुर को जारी रहती तो आज हमारा एयरपोर्ट रायपुर की टक्कर का  होता।

                         सभा को प्रेस क्लब अध्यक्ष ने भी संबोधित किया। सलूजा ने कहा कि हर स्तर पर जायज मांग होने के बावजूद बिलासपुर में एयरपोर्ट नही होना दुर्भाग्यजनक है। प्रेस क्लब हर तरह पर आंदोलन में समिति के साथ खड़ा है। विरेन्द्र गहवई ने छत्तीसगढी में अपनी बातों को रखा। उन्होने बताया कि हजारों करोड रूपये का राजस्व देने वाले बिलासपुर को एअरपोर्ट के लिए संघर्ष करना पड़ा है।  यह बहुत बड़ी पीड़ा है। हवाई सुविधा केन्द्र सरकार का विषय है। हम सब साथ साथ हैं।

              सभा को वरिष्ठ पत्रकारों राजेश दुआ, राजेश अग्रवाल, उमेश मौर्य, कमल दुबे ने भी संबोधित किया।

              आंदोलन को स्वर्णकार समाज ने भी समर्थन किया।  समाज के प्रतिनिधिमण्डल ने ने एयरपोर्ट के समर्थन में पत्र भी दिया। प्रतिनिधिमण्डल में संतोष सोनी, उमेश सोनी समेत महिलाओं ने भी एयरपोर्ट की मांग को बहुत जरूरी बताया।

                         धरना आंदोलन में कृष्ण कुमार शर्मा, रितु साहू, प्रताप रंजन वर्मा, विशाल झा, महेश कुमार तिवारी, धर्मेश षर्मा, रामशरण यादव, देवेन्द्र सिंह, बद्री यादव, अभिषेक सिंह, अशोक भण्डारी, महेश दुबे, संदीप करिहारर, रितेष, संजय पिल्ले, डाॅ. तरू तिवारी, राजेश यादव, चंदन कुमार, नवीन देवांगन, गोपाल दुबे, समीर अहमद, महेश दुबे, अतहर खान, व्ही.के.भीमटे, इस्माईल खान, कप्तान खान, रघुराज सिंह, तपस कुमार घोष, भुवनेश्वर शर्मा , मनोज गोस्वामी, पवन चंद्राकर, अमित नागदेव, हरनारायण देवांगन, प्रकाश राव, दिलीप जगवानी और  सुदीप श्रीवास्तव विशेष रूप से मौजूद थे।

                 समिति के सदस्यों ने बताया कि धरना आंदोलन के छब्बीसवेें दिन छत्तीसगढ युवा सेन्ट्रल सिंधी पंचायत के प्रतिनिधि शिरकत करेंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *