सवालों से बचते रहे निकाय मंत्री.. कहा..नहीं बचेंगे गौरव पथ और सिवरेज के दोषी..जागेश्वरी के बयान के लिए पार्टी जिम्मेदार नहीं…क्योंकि हमारे पार्षद भी दोषी..

बिलासपुर— निकाय मंत्री ने कहा सिवरेज के दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा। गौरव पथ निर्माण में शामिल भ्रष्ट अपसरों  पर कार्रवाई होगी। सिवरेज मामले में कमेटी का गठन कर रिपोर्ट देने को कहा है।आयुक्त से गौरव पथ की फाइल को मांगा है। मुंगेली सीएमओ को भाजपा के ही नहीं..बल्कि हमारे पार्षद भी फंसाना चाहते हैं। और जागेश्वरी वर्मा के बयान के लिए पार्टी जिम्मेदार नहीं है। पत्रकारों से डॉ.शिव डहरिया ने बताया कि क्या भाजपा सरकार ने हमसे पूछकर धान का समर्थन मूल्य 2100 रूपए किया था। फिर हमसे क्यों पूछते हैं कि 2500 रूपए समर्थन मूल्य की घोषणा केन्द्र सरकार से पूछकर नहीं किया गया।

गौरव पथ फाइल को मंगवाया

                       एक दिनी प्रवास पर बिलासपुर पहुंचे नगरीय निकाय मंत्री डॉ.शिव डहरिया ने विभागीय विकास कार्यों का जायजा  लिया। इसके बाद छत्तीसगढ़ भवन में पत्रकारों के सवालों से रूबरू हुए। डॉ डहरिया ने बताया कि बिलासपुर नगर निगम को भ्रष्ट अधिकारियों का चारागाह नहीं बनने दिया जाएगा। क्या बिलासपुर निगम कार्यालय को भ्रष्ट अधिकारियों का चारागाह बना दिया गया है। गोरव पथ के दोषी अधिकारियों पर आज तक कार्रवाई क्यों नहीं हुई। सवाल के जवाब में डहरिया ने कहा कि हमने आयुक्त से गौरव पथ की रिपोर्ट और कार्रवाई की फाइल को मंगाया है। जांच पड़ताल के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी। किसी भी अधिकारी को नहीं छोड़ा जाएगा। अंगद की पाव की तरह जमने का सवाल ही नहीं उठता है।

सिवरेज की जांच करेगी कमेटी

               क्या माना जाए कि सिवरेज का काम पूरा हो चुका है। यदि नहीं तो दोषी अधिकारियों और कम्पनी के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है। डहरिया ने बताया कि उच्च अधिकारियों की कमेटी का गठन किया गया है। मामले में वरिष्ठ नेताओं और विधायकों से रायशुमारी करेंगे। जो भी निर्णय होगा उसके बाद कार्रवाई की जाएगी। क्या सिम्पलेक्स के जिम्मेदार लोगों को तलब करेंगे। उनके साथ सिवरेज कार्यों का जायजा लेंगे। सवाल के जवाब में डहरिया ने कहा कि योजना को तीन साल में पूरा होना था। लेकिन आज दस साल बाद भी खत्म नहीं हुआ है। निश्चित रूप से भाजपा की सरकार दोषी है। अधिकारी भी शामिल है। किसी को नहीं बख्शा जाएगा।

डहरिया ने कहा जानकारी नहीं

                     विकास भवन को भाजपा सरकार की तर्ज पर चलाया जा रहा है। पांच निजी कम्पनियों ने भवन में कब्जा किया है। निगम को प्रति महीने सात लाख रूपए का नुकसान हो रहा है। क्या निगम ने निजी कम्पनियों को बिना किराए के भवन को दान किया है। डहरिया ने कहा कि इसकी उन्हें जानकारी नहीं है। हम पता लगाएंगे। 

पन्द्रह साल का गड्ढा

                      सड़कों की स्थिति बहुत बूुरी है…क्या कुछ करेंगे इसे सुधारने के लिए…डहरिया ने राहत भरे सवाल का खुश होकर उत्तर दिया। उन्होने कहा कि यह पन्द्रह साल का गड्ठा है। पाटने में समय तो लगेगा ही।

क्या हमसे पूछकर किया था 2100

                 भाजपा का आरोप है कि क्या आपने पूछकर धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपए किया है। जवाब में डहरिया ने कहा कि तो क्या भाजपा सरकार ने हमसे पूछकर धान का समर्थन मूल्य 2100 रूपए किया था। भाजपा नेता बताएं कि किस बात को लेकर 30 सितम्बर को जेल भरो आंदोलन करेंगे। जाहिर सी बात है कि भाजपा नेता किसानों का हित नहीं चाहते हैं। धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपए करने से उन्हें तकलीफ हो रही है। इसका सीधा अर्थ है कि भाजपा नेता किसानों के विरोधी हैं।

हमारे पार्षद कराना चाहते थे नियम विरूद्ध काम

                           सीएमओ मुंगेली की आपसे कई बार शिकायत हुई है। कांग्रेस संगठन के नेताओं हटाने की मांग भी की है। अवैध वसूली और लापरवाही का भी आरोप है। मंत्रालय के पत्र का जवाब भी देना मुनासिब नहीं समझते हैं। जवाब में डहरिया ने कहा कि ऐसा नहीं है। शिकायत मिली थी। हमने जांच भी करवाया। जानकारी मिली की हमारे संगठन के नेता और कुछ पार्षद सीएमओ को बदनाम कर रहे हैं। उनका गलत काम सीएमओ नहीं कर रहा है। इसलिए शिकायत कर रहे हैं। इसमें विपक्ष के भी पार्षद भी शामिल हैं।

हो सकता है अनुमति लिया हो

                जब मामला कोर्ट में है तो उद्यान मरम्मत को लेकर सीएमओ क्यों जल्दबाजी कर रहे हैं। उन्होने नियम  विरूद्ध 6 लाख का टेन्डर निकाला है। क्या यह उचित है। डहरिया ने बताया कि हमें जानकारी नहीं है। यदि टेन्डर निकाला है तो उपर से अनुमति होगी। फिलहाल मामले की जानकारी लेंगे।

जागेश्वरी वर्मा के बयान..पार्टी का लेना देना नही

                जागेश्वरी वर्मा ने किसी जाति विशेष के खिलाफ अपने भाषण में गाली गलौच और देवी देवताओं को भला बुरा कहा है। क्या उनके भाषण को कांग्रेस का अधिकृत बयान माना जाए। निकाय मंत्री ने बताया कि जागेश्वरी के बयान के लिए संगठन जिम्मेदार नहीं है। उन्होने क्यो कहा..वही जाने । फिलहाल इसकी जानकारी भी उन्हें नहीं है।

संगठन करेगा फैसला..हम तैयार हैं

         क्या निकाय चुनाव में जोगी पार्टी रिटर्न लोगों को मैदान में उतारा जाएगा। पार्टी की चुनावी तैयारी कैसी है। डहरिया ने बताया कि टिकट किसे मिलेगी इसका जवाब संगठन देगा। फिलहाल निकाय चुनाव की सारी तैयारी हो चुकी है। परिसीमन काम, आरक्षण की प्रकिया ,समेत सारे काम पूरे हो चुके हैं। अब फैसला चुनाव आयोग को करना है।

भाजपा डर गयी है..नहीं मिल रहे नेता

                भाजपा के नेता जिला अध्यक्ष नहीं बनना चाहते हैं। शिव डहरिया ने कहा कि भाजपा को कार्यकर्ता भी नहीं मिलेंगे। उन्हें डर है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है। आम जनता उनसे परेशान हो चुकी है। जाहिर सी बात है कि क्यों कोई भाजपा का जिला अध्यक्ष बनना चाहेगा।

                  

 

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...