किसानों ने कहा…जब आत्महत्या करेंगे..तब समझेंगे धान हमारा है

बिलासपुर—पिछले कुछ दिनों से एक दर्जन से अधिक किसान कलेक्टर कार्यालय का चक्कर काट रहे हैं। जिला प्रशासन समेत खाद्य अधिकारी से फरियाद कर रहे हैं कि धान उनका है। हम लोग ना तो व्यापारी है और नहा ही कोचिया। बेचने जा रहे थे। लेकिन कुछ लोगों की गलत शिकायत पर उनका धान ट्रक समेत बिल्हा थाना में जब्त कर रख लिया गया है। जबकि हम लोग अपना रवि का धान कर्ज उतारने के लिए बेचने जा रहे थे। अब एक सप्ताह से धान समेत ट्रक जब्त हो गया है। समझ में नहीं आ रहा है कि अब ट्रक का भाड़ा कहां से देंगे। हम लोग परेशान हो चुके हैं। यदि दो एक दिन ऐसा ही चलता रहा तो हम किसान पेट्रोल छिड़कर आत्महत्या करेंगे।

                 दगौरी का किसान श्यामता कौशिक ने कहा है कि बड़ा काश्तकार है। 25 एक्ड़ में धान की उपज लिया है। धान काटने और लुआई के बाद उसे मजदूरों और हार्वेस्टर की मजदूरी देना था। इसलिए वह अपना धान बिल्हा बाजार में बेचने जा रहा था। इसी बीच कुछ लोगों की झूठी शिकायत पर खाद्य निरीक्षक ने पकड़ लिया। मांगे जाने पर प्रमाण दिए बावजूद इसके उसके धान को जब्त किया गया। एक सप्लाह हो गया है..ट्रक बिल्हा थाने में खड़ा है। हम लोग धान बेचकर कर्ज चुकाने चले थे। अब ट्रक का भी भाड़ा ज्यादा देना होगा। श्यामता ने बताया कि वह दगौरी सोसायटी का अध्यक्ष भी है।बावजूद इसके खाद्य अधिकारियों को शक है कि वह कोचिया है। और किसानों से धआन खरीदकर बेचने जा रहा है। वह सफाई देते परेशान हो चुका है। यदि दो एक दिनमें धान को वापस नहीं दिया गया तो वह किसान साथियों के साथ कलेक्टर कार्यालय के सामने आत्महत्या कर लेगा।

                  बिनौरी निवासी श्याम कुर्रे ने बताया कि वह 80 कट्टी धान बेचने बिल्हा जा रहा था। इसी बीच उसके धान को ट्रैक्टर के साथ पकड़ लिया गया है। धान खरीदकर साहूकार का कर्ज पटाता। बाकी धान 1 दिसम्बर को सोसायटी ले जाकर समर्थन मूल्य में बेचुंगा। लेकिन किसी की झूठी शिकायत पर धान को जब्त कर लिया गया। हम लोग घर का काम धाम झोड़कर थाना और कले्क्टर कार्यालय का चक्कर काट रहे हैं। अधिकारी कहते हैं कि छोड़ देंगे। लेकिन छोड़ नहीं रहे हैं। यदि उन्हें पेनाल्टी लगाना है तो वह भी लगा लें। कम से कम चैन से घर में रहते। हम रोज रोज के किच किच से परेशान हो चुके हैं। परेशानी से बचने अब आत्महत्या के अलावा करने के अलावा कोई चारा नहीं रह गया है। 

                    कलेक्टर कार्यालय पहुंचे कमोबेश एक दर्जन से अधिक किसान अमर सिंह राठौर,बाबूराम.लालाराम, कन्हैया लाल, श्यामलाल,सुरेश कुमार, शांतिलाल,सुधाराम,शिव,कोमल ने बताया कि हम सभी का धान बिल्हा थाने में जब्त कर रखा गया है। जब खाद्य अधिकारी आदेश देंगे तभी धान को छोड़ा जाएगा। यदि ऐसा नहीं किया गया तो परिवार के साथ कलेक्टर कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन करेंगे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...