धान खरीदी पर छत्तीसगढ़ विधानसभा में हंगामा , विपक्ष ने कहा – धान नहीं बेच पा रहे किसान, स्थगन प्रस्ताव मंजूर

सरकारी बैंक, किसान, कर्ज माफी,chhattisgarh,farmer,loan,government bank

रायपुर।धान खरीदी और किसानों की समस्या को लेकर विपक्ष के हंगामे के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने काम रोको प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया। उन्होंने चर्चा की अनुमति दे दी। शासकीय कार्यों के बाद स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा की अनुमति दी है। बता दें कि इसके पहले बीजेपी विधायक शिवरतन शर्मा ने धान खरीदी के मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव लाकर चर्चा की मांग की। उनके साथ बीजेपी के अन्य विधायकों ने भी चर्चा की मांग की। जोगी कांग्रेस की तरफ से भी धान खरीदी के मुद्दे पर चर्चा की मांग की गई।

जिसके बाद सत्ता पक्ष ने कहा कि घड़ियाली आंसू बहाना बंद करे। जिसके बाद सदन में विपक्ष ने हंगामा कर दिया और नारेबाजी करने लगे।किसानों की समस्या को लेकर शिवतरन शर्मा ने कहा कि किसान अपना धान नहीं बेच पा रहे हैं। स्थितियां अराजक हो गई है। धर्मजीत सिंह ने कहा कि प्रदेश में अन्य प्रदेशों से धान यहां आ रहा है।

सरकार धान खरीदी में हांफ रही है। आज सरकार आदेश जारी करे कि 2500 में धान खरीदेंगे। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि धान कटाई 60 फीसदी से ज्यादा हो गई है, इसके बाद भी किसान 1200 रुपये में धान बेचने को मजबूर है। उन्होंने कहा कि किसानों का धान जब्त किया जा रहा है। किसानों को बाहर धान बेचना पड़ रहा है। प्रदेश के 2 किसानों को जेल भेज दिया गया है।

सहकरिता मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि धान खरीदी की तैयारी पूरी कर ली गई है। धान खेत मे नमी ज्यादा होने के कारण1 दिसम्बर से धान खरीदी का निर्णय लिया गया है। अवैध धान को रोकने अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि सरकार किसानों की समस्या को लेकर चर्चा के लिए तैयार है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...