जब झारखंड में बिलासपुर की पुलिस को करना पड़ा चुनाव प्रचार …. ? ऑनलाइन ठगी करने वालों तक ऐसे पहुंची पुलिस…. और धरदबोचा

बिलासपुर । नेट बैंकिंग और एटीएम के इस दौर में ठगी के और धोखाधड़ी के नए- नए पैंतरे इस्तेमाल किए जा रहे हैं। जिसमें लोगों से ओटीपी पूछ कर रुपए निकाल लिए जाते हैं। इस साल फरवरी में इसी तरह अलका एवेन्यू में रहने वाले प्रयाग दत्त दीक्षित ऑनलाइन ठगी के शिकार हुए थे ।पुलिस इस मामले में ठगी करने वाले दो भाइयों को पकड़ने में कामयाब रही है ।पुलिस ने इन्हें झारखंड से पकड़ा ।जहां पुलिस चुनाव प्रचारक बनकर पहुंची और आरोपियों को धर दबोचा ।

पुलिस ने जानकारी दी है कि हाल के दिनों में ऑनलाइन ठगी के मामलों को देखते हुए आईजी प्रदीप गुप्ता और जिला पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल ने विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए थे ।जिसके बाद एडिशनल एसपी ओपी शर्मा और सीएसपी आरएन यादव की अगुवाई में सभी थाने और चौकी में धोखाधड़ी और ऑनलाइन ठगी के दर्ज मामलों के निराकरण के संबंध में अभियान चलाया जा रहा है। इसी सिलसिले में पिछले 10 फरवरी को अलका एवेन्यू के रहने वाले एनएमडीसी बैलाडीला से रिटायर्ड प्रयाग दत्त दीक्षित के साथ हुई धोखाधड़ी के मामले की भी जांच की गई । प्रयाग दत्त दीक्षित का भारतीय स्टेट बैंक मंगला में खाता है। 10 फरवरी को उनके मोबाइल नंबर पर अज्ञात लोगों ने फोन कर ओटीपी की जानकारी ली और उनके खाते से 47,994 रुपए निकाल लिए। इस पर सिविल लाइन पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था।

विवेचना के दौरान थाना प्रभारी मोहम्मद कलीम खान ने अज्ञात आरोपी के मोबाइल सिम के बारे में छानबीन की ।साथ ही मामले की तकनीकी पहलुओं पर जांच की और पाया कि किस तरीके से अपराधियों ने प्रार्थी को झांसे में लेकर एटीएम के ओटीपी संबंधित जानकारी लेकर उनसे ठगी की है। मामले में जानकारी मिलने पर साइबर सेल के प्रभाकर तिवारी, हेमंत आदित्य ,मुकेश के साथ मिलकर संयुक्त रूप से मामले की जांच की गई ।जिससे आरोपी के संबंध में जानकारी इकट्ठी हुई। इसके बाद एएसआई शैलेंद्र सिंह के नेतृत्व में हेड कांस्टेबल देव मुन, पुहुप , दीपक उपाध्याय, तरुण केसरवानी की टीम बनाई गई ।जिसे झारखंड भेजा गया ।इस टीम ने झारखंड के नवादा , राजमहल ,जामताड़ा , करमाटांड़ इलाके में आरोपियों की पतासाजी शुरू की ।पुलिस वहां झारखंड में चल रहे चुनावी माहौल के बीच अपने आप को ढालते हुए खुद चुनाव प्रचार -प्रसार की टीम का हिस्सा बन गई ।चुनाव प्रचार करते हुए यह टीम थाना करमा तांड के देवोडीह गांव पहुंच गई और संदेहियों के घर के आसपास इलाके का जायजा लेकर सटीक रेकी करते हुए आरोपी शहाबुद्दीन अंसारी उर्फ साहेब और मोहम्मद सफ़र उद्दीन अंसारी के घर पर दबिश देकर हिरासत में लिया। दोनों भाइयों से झारखंड पुलिस की मदद से पूछताछ की गई ।जिन्होंने अपना अपराध मान लिया और बताया कि वह मोबाइल फोन से लोगों को झांसे में लेकर ओटीपी की पूछताछ करने के बाद ठगी करते रहे हैं ।इसके बाद दोनों की गिरफ्तारी कर न्यायिक रिमांड पर न्यायालय में पेश किया गया।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...