हवाई सेवा धरना आंदोलनः रिटायर्ड पायलट ने कहा..कोई रूकावट नहीं.. फिर भावुक पिता ने सुनाई आपबीती

बिलासपुर—हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति का अखंड धरना आंदोलन के 32 वें दिन सेन्ट्रल बंगाली ऐसोसिएशन समाज ने धरना स्थल पहुंचकर समर्थन किया है। समिति के सदस्यों ने भी हवाई सेवा सुविधा के लिए समाज के सभी लोगों से सहोयग करने को कहा।

                सभा को संबोधित करते हुये बांगाली ऐसोसिएशन के अध्यक्ष एम.एन.चटर्जी ने कहा कि बिलासपुर ने पिछले 100 साल से रेलवे और कोल इंडिया के मार्फत हजारों करोड रूपये केन्द्र सरकार और राज्य सरकार को दे चुका है।  बावजूद इसके बिलासपुर के साथ अन्याय किया जा रहा है। एसोसिएशन के सचिव तरूण विश्वास ने बताया कि बिलासपुर में हवाई सुविधा में नहीं होने से बहुत से लोगो को सीधा नुकसान हो रहा है। हवाई सेवा नहीं होने से क्षेत्र को रोजगार और व्यवसाय में काफी नुकसान हुआ है।

                     धरना में शामिल रिटायर्ड पायलट और नामदेव समाज के वरिष्ठ नागरिक शिवशंकर वर्मा ने बताया कि बिलासपुर एयरपोर्ट में सारी बुनियादी सुविधाएं है। नागरिक उड्डयन विभाग का ऐसा कोई नियम नही है जो बिलासपुर हवाई अडडे को खुलने में रूकावट पैदा करे। वरिष्ठ नागरिक अशोक रंजन शर्मा ने हवाई अड्डा बिलासपुर में नही होने से उनका दो-दो साल तक पुत्र से मिलना नहीं हो पाता है।

                      सभा को सुदीप दत्ता, अमित चक्रवर्ती, तुसार तिवारी ने भी संबोधित किया। बंगाली एसोसिएशन की तरफ से एमएन चक्रवर्ती ,आरएन चक्रवर्ती, अशोक गुहा, तरूण विश्वास , शुभदेव डे, अनुप कुमार डे, उत्पल साह, बीएन बोस, एचके घोष भी धरने में शामिल हुए। संघर्ष समिति के सदस्य सुदीप श्रीवास्तव ने बताया कि 27 नवम्बर को धरना आंदोलन का 33 वां दिन होगा। धरना का समर्थन करने क्रिष्चियन समाज का प्रतिनिधिमण्डल करेगा। 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...