हवाई सेवा मांगः संघर्ष समिति ने दिया ज्ञापन, कहा..सरकार को लेना होगा फैसला..अंत तक करेंगे आंदोलन

बिलासपुर— हवाई सेवा संघर्ष समिति में शामिल बिलासपुर की जनता गाधी चौक से बीच शहर से होते हुए नेहरू चौक पहुंची। इस दौरान बिलासपुर की आम जनता ने मौन जुलुस के उद्देश्य और जोश का ना केवल स्वागत किया। बल्कि मौन रैली में शामिल होकर हवाई सेवा मांग का पुरजोर समर्थन भी किया।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने यहां क्लिक करे

                          हवाई सेवा संघर्ष समिति ती मौन रैली ठीक 5 बजे अहिंसात्मक आंदोलन के साथ महात्मा गांधी की प्रतिमा को नमन करने के साथ नेहरू चौक के लिए रवाना हुई।  रैली में  युवाओं के अलावा विभिन्न सामाजिक संगठनों के लोगों ने भाग लिया। मौन रेैली में पंडरिया, तखतपुर, सीपत, बिल्हा, मस्तूरी, चकरभाठा बोदरी के प्रतिनिधि भी शामिल हुए।

                 हजारों की संख्या में मौजूद जनसमूह ने एक बाजू में काली पट्टी बाधकर अपना आक्रोश जाहिर किया। सैकड़ो हाथों में बिलासपुर में हवाई सुविधा लेने और अन्याय नहीं सहने संबंधी नारे वाली तख्तियां दिखाई दी। कई तख्तियों में केन्द्र और राज्य सरकार को नींद से जगाने वाले नारा भी पढ़ने को मिला। 

 

                       मौन रैली में सबसे आगे बैनर लेकर बिलासपुर शहर की महिलाओं का एक बडा समूह चल रहा था। प्रमुख सामाजिक संगठनों में बिलासपुर प्रेस क्लब, लायंस क्लब, सिंधी समाज, कसौधन वैश्य समाज, कायस्थ समाज, स्वर्णकार समाज, पंजाबी समाज, बिलासपुर मर्चेन्ट एसोसिएशन , बंगाली ऐसोसिएशन, ईसाई समाज, क्रिकेट संघ , सरकण्डा युवा संघ, साहू समाज, कास्ट एण्ड एकाउन्टेन्ट एसोसिएशन, एसईसीएल पेन्शनर्स संघ, गुरू घासीदास विश्व विद्यालय छात्र संघ, सतनामी समाज, सूर्यवंशी समाज, आदर्श युवा मंच, विश्वास पैनल एसबीआर काॅलेज, मुस्लिम समाज, छ.ग. लघु उद्योग संघ समेत कई संगठनों ने मौन रैली मे भागीदारी की।         मौन रैली को शहर के कई गणमान्य नागरिकों ने स्वस्फूर्त समर्थन किया। रैली में शिरकत कर हवाई सेवा की मांग की।

                                    रैली मुख्य बाजार में  ट्रैफिक जाम की स्थिति कई बार बनी। जूना बिलासपुर में एक एम्बुलेन्स को रास्ता देने के लिए रैली ने मर्यादित व्यवहार कर एक तरफ हटकर रास्ता दिया। समिति के सदस्यों ने जिम्मेदारी के साथ यातायात व्यवस्था को सुचारू रखने में पूरी मेहनत की।

                    राघवेन्द्र राव सभा भवन स्थित धरना स्थल तक लगभग तीन किलोमीटर पूरा होने के बाद भी लोगो के जयघोष में कोई कमी देखने को नहीं मिली। नेहरू चौक तक भारी संख्या में जनसमूह मौन रैली में नजर आया। नेहरू चौक पहुंचकर हवाई सेवा संघर्ष समिति के सदस्यों ने कलेक्टर के नाम सिटी मजिस्ट्रेट एआर टण्डन को ज्ञापन दिया।

                 संघर्ष समिति प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि रनवे विस्तार के लिए 100 एकड भूमि और तुरंत हवाई सुविधा प्रारंभ करने के लिए आवश्यक धनराशि आबंटित करने को कहा। सिटी मजिस्ट्रेट को संघर्ष समिति के सदस्यों ने बताया कि एअरपोर्ट के आसपास सेना के लिए जमीन को अधिग्रहण किया गया है। इसके अलावा भी बहुत जमीन हैं। सरकार यदि चाहे तो जमीन आसानी से एयरपोर्ट को मिल सकती है। टण्डन ने कहा कि मांग को गंभीरता के साथ शासन को भेजा जाएगा। क्योंकि सब कुछ संभव है।

                              मौन रैली के अंत में समिति के सदस्यों ने जुलूस में शामिल सभी लोगों के प्रति आभार जाहिर किया। साथ ही एलान भी किया कि अखण्ड धरना पूर्व की तरह जारी रहेगा। वायु सुविधा मिलने तक धरना आंदोलन को बंद नहीं किया जाएगा।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...