पार्षद चुनावः कांग्रेस के बड़े नेता ने कहा..मेयर बनने का हुआ इशारा.. इसलिए वार्ड 52 से लड़ूंगा चुनाव

नगर निगम चुनाव ,परिसीमन, प्रक्रिया, जारी, सत्ता पक्ष ,मनमानी, रोकने, बीजेपी,कमेटी,रायपुर,छत्तीसगढ़

बिलासपुर— आचार संहिता लग चुकी है। 30 को नामांकन भरा जाएगा। 9 दिसम्बर को नाम वापसी और 21 दिसम्बर को निकाय चुनाव होगा। मजेदार बात है कि इस बार सिर्फ पार्षद का ही चुनाव होगा। मतलब मेयर का चुनाव पार्षद मिलकर करेंगे। जाहिर सी बात है कि स्वनाम धन्य ऐसे नेता जो पार्षद नहीं सिर्फ मेयर बनना चाहते थे।अब उन्हे भी चुनाव लड़ना होगा। कहने का मतलब है कि इस बार दोनों ही दलों से थोक के भाव मेयर प्रत्याशियों को पहले पार्षद प्रत्याशी बनना होगा। ऐसे में मेयर के दावेदार दूसरे की तैयार जमीन पर पैराशूट से लैण्डिग करने का पूरा जुगत भिड़ना शुरू कर दिया। ऐसे लोगों की संख्या भाजपा में बेशक कम हो लेकिन कांग्रेस में आधा दर्जन से अधिक ही हैं।

                बताते चलें कि दो एक दिन के अन्दर दोनों ही दल अपने मेयर कम पार्षद प्रत्याशियों के नाम का एलान कर देंगे। इन सबके बीच कांग्रेस में टिकट बटने से पहले कार्यकर्ताओं की नाराजगी सामने आने लगी है।  जानकारी के अनुसार स्वनाम धन्य कुछ नेता सुरक्षित वार्ड की तलाश कर स्थानीय प्रत्याशियों को प्रलोभन देकर तैयार जमीन पर लैण्डिंग करने मान मनौव्वल शुरू कर दिया है।

                   कांग्रेस के एक बड़े नेता वार्ड क्रमांक 52 से पार्षद का चुनाव लड़ना चाहते हैं। स्थानीय प्रत्याशी के प्रयासों पर पानी फेरते बल्कि पैराशूट से लैण्डिंग होने में सफल भी दिखाई दे रहे हैं। वार्ड क्रमांक 52 से कांग्रेस नेता और लिंगियाडीह पांचायत के पूर्व उपसरपंच दिलीप पाटिल ने टिकट की दावेदारी की है। फिलहाल दिलीप की दावेदारी कमजोर होती नजर आ रही है। बताया जा रहा है कि यहां से जिला स्तर का एक बड़ा नेता चुनाव लड़कर मेयर बनना चाहता है। यदि सूत्रों पर विश्वास करें तो बड़े नेता को ऊपर से आश्वासन भी मिला है कि यदि चुनाव जीता तो उनका मेयर बनना निश्चित है।0

                         बड़े नेता की दावेदारी से दिलीप पाटिल और उसके समर्थकों में भारी नाराजगी है।दिलीप पाटिल की माने तो उनकी मां ने लिंगियाडीह में कांग्रेस का  उस समय झंडा थामा..जब कार्यकर्ताओं का टोंटा था। परिवार के चार सदस्य फिलहाल पंचायत भंग होने तक पंच पद पर थे। खुद उपसरपंच रहे। निगम में शामिल होने के बाद बड़े नेताओं के निर्देश पर पार्षद चुनाव की तैयारी की। अब दावेदारी नहीं करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। 

                         कांग्रेस के ही कुछ नेताओं ने बताया कि दिलीप की दावेदारी मजबूत है। क्षेत्र में अच्छा रसूख है। यदि कोई पैराशूट लैण्डिग करेगा तो इसका खामियाजा पार्टी को भुगतना पड़ेगा। खुद के स्वार्थ के लिए दूसरों के हक मारना ठीक नहीं। लेकिन कांग्रेस में ऐसा होता है।

                           बताते चलें कि अपोलो के आसपास लिंगियाडीह के बहुत बड़े क्षेत्र को मिलाकर वार्ड क्रमांक 52 बनाया गया है। परिसीमन में वार्ड को सामान्य घोषित किया गया है। निवर्तमान उप सरपंच दिलीप पाटिल यहां से मजबूत दावेदार हैं। यदि उनकी दावेदारी पर मेयर प्रत्याशी नेता की दावेदारी भारी पड़ जाए तो कोई आश्चर्य की बात नहीं।

                                     वार्ड क्रमांक 52 में रामनगर,श्यामनगर,दुर्गानगर,पुरानी बस्ती,अटल आवास और ठाकुर मंदिर क्षेत्र शामिल है। यहां मतदाताओं की कुल संख्या 10,792 है। दिलीप पाटिल यहां से तीन बार पंच और एक बार उपसरपंच रह चुके हैं।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...