नगर पंचायत Archive

बोदरी नपं अध्यक्ष ने कहा..नहीं खुलने देंगे शराब दुकान

बिलासपुर— शराबबंदी की मांग लगातार तेज होती जा रही है। दूर दराज क्षेत्र की महिलाओं ने जनप्रतिनिधियों के साथ कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर शराब दुकान खोलने का विरोध किया है। बोदरी नगर पंचायत अध्यक्ष अपने समर्थकों के साथ प्रस्तावित शराब दुकान को नहीं खोले जाने की चेतावनी दी है।                बोदरी नगर पंचायत अध्यक्ष अंजू दिवाकर

बोदरी को बनाएंगे कैशलेस नगर पंचायत–कलेक्टर

बिलासपुर—बिलासपुर जिला का बोदरी नगर पंचायत शतप्रतिशत कैशलेस हो जाएगा। नगर पंचायत बोदरी में कलेक्टर अन्बलगन पी. ने कार्यशाला के दौरान बताया कि क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों, नागरिकों और व्यापारियों के सहयोग से बोदरी नगर पंचायत छत्तीसगढ़ में कैशलेस व्यवस्था में मील का पत्थर साबित होगा।                      नगर पंचायत बोदरी में आयोजित कार्यशाला को संबोधित करते

नगर पंचायत उपाध्यक्ष से मारपीट..सिम्स में भर्ती

बिलासपुर— बोदरी नगर पंचायत कार्यपरिषद की बैठक में भाजपा नेता पूर्व उपाध्यक्ष कुशल पाण्डेय ने नगर पंचायत उपाध्यक्ष विजय वर्मा के बीच जमकर मारपीट हुई है। विजय वर्मा की हालत गंभीर बतायी जा रही है। वर्मा को सिम्स में भर्ती किया गया है। जिला कांग्रेस नेताओं ने आज पीसीसी महामंत्री अटल श्रीवास्तव की अगुवाई में

बिना अनुमति मिट्टी उत्खनन..जेसीबी और हाइवा जब्त

  बिलासपुर– वाह रे लोग…वाह रे लोगों का तंत्र…जिसकोंं जहां मिल रहा है…सेंधमारी कर रहा है…। शासन के आदेश की ऐसी की तैसी…बोदरी के जनप्रतिनिधि और अधिकारियों की पूंजीपतियों से गहरी सांठ गांठ है। व्यवस्था का भय ना तो मिट्टी निकालने वाले को है..ना पंचायत प्रतिनिधियों को ही…पिछले चार दिनों से तालाब की मिट्टी बिना

सीईओ को ठेकेदारों ने बनाया बंधक

बिलासपुर— सकरी में दोपहर को ठेकेदार संघ ने  नगर पंचायत कार्यालय पर ताला लगा दिया। कुछ देर तक अधिकारियों को बंधक भी बनाया। शिकायत मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और बंधक अधिकारियों को मुक्त कराया।                   जानकारी के अनुसार सकरी स्थित नगर पंचायत कार्यालय पर नाराज ठेकेदारों ने ताला जड़ दिया। मामले की जानकारी

नगर पंचायत सकरी,कोटा,सिरगट्टी बनेगें खुले शौच से मुक्त

बिलासपुर। स्वच्छ भारत मिशन अभियान के तहत् सकरी, सिरगट्टी एवं कोटा को खुले शौच से मुक्त नगर पंचायत बनाया जाएगा। जिसके लिए नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा इन नगर पंचायतों में 242.79 लाख रूपए की लागत से 2676 अतिरिक्त निजी शौचालय निर्माण की स्वीकृति दी गई है। खुले शौच से मुक्त नगर पंचायत बनाने