बिलासपुर–  पूर्व मुख्यमंत्री  अजीत जोगी ने सीजी वाल को बताया कि  देश के प्रतिष्ठित साहित्यकारों और बुद्धिजीवियों ने साम्प्रदायिक घटनाओं और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के संकीर्ण होते दायरें के खिलाफ विरोध जताया है। उन्होंने कहा कि देश  में असहिष्णुता के वातावरण पर चिंता जताते हुए कहा कि  साहित्यकार वर्ग ही नहीं देश का आम नागरिक