HADTAL Archive

काली पट्टी बांधकर किया काम.. हड़तालियों ने कहा..आदेश वापस लें.. वादा निभाए..या करें आंदोलन का सामना

बिलासपुर—वेतन बृद्धि कटौती,बीमा, डीए समेत अन्य मांगों को लेकर आज कर्मचारियों और अधिकारियों ने काली पट्टी बांधकर काम काज करने के साथ शासन की नीतियों का विरोध किया।                छत्तीसग़ढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के जिला संयोजक  रविन्द्र तिवारी ने बताया कि तीन सूत्रीय मांगों को लेकर शासन के खिलाफ सांकेतिक विरोध किया गया है।

जिला प्रशासन से मिला पुलिस परिवार.. बताया बर्खास्त जवान की हालत खराब. आरक्षक ने कहा जबरदस्ती जूस पिलाने का हुआ प्रयास

बिलासपुर—-छत्तीसगढ़ पुलिस परिवार के सदस्यों ने सोमवार को मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य और गृहमंत्री समेत डीजीपी के नाम जिला प्रशासन को अलग अलग ज्ञापन  दिया है। कलेक्टर की अनुपस्थिति में पुलिस परिवार के लोगों ने एडिश्लल कलेक्टर बीएस उइके को बताया कि पिछले सात दिनों से बर्खास्त पुलिस जवान पांच सूत्रीय मांग को लेकर अनिश्चित कालीन भूख

बैंकरों का यू टर्न…हड़ताल स्थगित.. कहा..3 नहीं 8 दिनों तक बैंक बन्द रहता..जनता की बढ़ जाती परेशानी

बिलासपुर—- यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस बिलासपुर संयोजक ललित अग्रवाल ने बताया कि बैकरों ने मिलकर तीन दिवसीय हड़ताल स्थगित करने का फैसला लिया है। यूएफबीयू ने यह फैसला जनता के हितों को ध्यान में रखकर लिया है।         यूएफबीयू के संयोजक ललित अग्रवाल ने प्रेस नोट जारी कर बताया है कि बैंकरों ने

लगातार 6 दिन बन्द रहेगा बैंक..बैंकरों ने किया जंगी हड़ताल का एलान..बैंकरों ने दिखाई एक बार फिर अपनी ताकत

बिलासपुर—-युनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंसके बैनर तले बैंकरों ने 9000 रूपए प्रति परिवार पेंशन को बढ़ाने की मांग को लेकर एक फिर  प्रदर्शन किया। प्रदर्शन अखिल भारतीय स्तर पर किया गया। बिलासपुर मेें भी प्रदर्शनकारियों ने प्रति परिवार 9 हजार रूपए पेंशन दिए जाने की मांग की है।              दिन भर के काम काज

बैंकरों ने किया प्रदर्शन..बताया..एक अप्रैल से अनिश्चित कालीन हड़ताल ..मार्च में 3 दिन नहीं करेंगे काम

बिलासपुर—-यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनिंयस ने मंगलवार को दिन भर के कामकाज के बाद बैंक ऑफ इंडिया मंगला शाखा के सामने एकत्रित होकर आईबीए के खिलाफ आक्रोष जाहिर किया। बैंकरों ने बताया कि आईबीए के अड़ियल रैवये से नाराज देश के आर्थिक सिपाही सड़क पर उतरने के लिए मजबूर हैं।          

नाराज बैंकरों ने दिखाई ताकत..पहले मानव श्रृंखला, फिर रैली..इसके बाद वित्त मंत्री के नाम ज्ञापन..कहा..अब अनिश्चित कालीन हड़ताल की बारी

  बिलासपुर— जब वित्तमंत्री संसद में देश का बजट पेश कर रही थी…ठीक उसी समय देश के साथ बिलासपुर में भी यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के लोगों ने रैली और सभा का आयोजन कर जमकर नारेबाजी की। मानव श्रृंखला बनाकर मांग के समर्थन में कर्मचारियों ने आवाज बुलंद किया। प्रदर्शन के बाद यूएफबीयू के

अनिश्चितकालीन बैंक हड़ताल का एलानः ललित अग्रवाल ने बताया… लम्बित मांग को पूरा करना ही होगा

बिलासपुर—- बैंक कर्मचारियों ने अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने का एलान किया है। बैक कर्मचारी नेताओं ने संगठन के सभी साथियों को हड़ताल को सफल बनाने का निर्देश के साथ आह्वान किया है।                                             बैक अधिकारी ललित अग्रवाल ने बताया कि यूनाइटेड

नहीं खुलेंगे बैंकों के ताले…बैंकर संगठनों का फैसला…विशेष बैठक में अनिश्चित कालीन हड़ताल पर भी हुआ मंथन

बिलासपुर—ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन ने एलान किया है कि 26 सितम्बर से बैंको के ताले नही खुलेंगे। सभी बैंक अधिकारी  अखिल भारतीय स्तर पर हड़ताल में रहेंगे। इस दौरान शासन की गलत नीतियों का विरोध किया जाएगा। बैंक मर्जर का विरोध समेत पेंशन अपडेशन और अन्य मांगो को लेकर आंदोलन किया जाएगा।      

बैंक विलय का विरोध…बैंकरों ने किया अनिश्चितकालीन हड़ताल का एलान…कहा…बात से नहीं तो हड़ताल से होगा फैसला

बिलासपु— देश के चारों बैंक अधिकारी संगठनों के महासचिवों ने आईबीए के चेयरमैन को हड़ताल पर जाने का नोटिस थमाया है। चारो संगठनों के अधिकारियों ने बैंक विलय का विरोध कर अपनी नाराजगी को जाहिर किया है। आइबोक प्रमुख सौम्या दत्ता, एआईबीओए प्रमुख एस नागराजन, इनबोक प्रमुख के के नायर और नोबो प्रमुख वी वी

आमरण भूख हड़ताल का एलान…कोर्राम ने बताया..जब तक जांच का आदेश नहीं…तब तक खत्म नहीं होगा अनशन

भानुप्रतापपुर–एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना में भ्रष्टाचार की जांच और कार्यवाही की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी भानुप्रतापपुर विधानसभा अध्यक्ष रमल कोर्राम ने 19 जुलाई से अनशन शुरू किया है। कोर्राम ने एलान किया है कि जब तक जांच की कार्रवाई नहीं होती है। तब तक अनिश्चितकालीन  आहार त्यागकर अनशन पर रहेंगे।      

जब सहायिकाओं ने दिखाई ताकत…कहा हमें श्रेय से नहीं एरियर्स से मतलब…सरकार करें 9 सूत्रीय मांगो पर विचार

बिलासपुर— छत्तीसगढ़ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ ने प्रदेश समेत आज बिलासपुर स्थित नेहरू चौक में नौ सूत्रीय मांग को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका ने कहा कि केन्द्र सरकार ने मानदेय अक्टूबर 2018 में मानदेय बढ़ाया। लेकिन बढ़े हुए मानदेय का भुगतान 9 महीने बाद जुलाई में किया गया। ऊपर से

एक दिवसीय धरना के बाद बड़ा फैसला…सहकारी बैंक कर्मचारियों का एलान…25 फरवरी से अनिश्चितकालीन हड़ताल

बिलासपुर—प्राइस इंडेक्स की मांग को लेकर तीन दिनों से सांकेतिक प्रदर्शन के बाद जिला सहकारी बैंक कर्मचारियों ने आज बैंक के सामने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर हड़ताल किया। धरना प्रदर्शन कर शासन और बैंक प्रबंधन पर मांग को लेकर दबाव बनाया। हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों ने कहा कि प्राइस इंडेक्स की मांग को लेकर

सीएमडी ने कहा…हड़ताल राष्ट्रहित में ठीक नहीं..श्रम संघ से की लिखित अपील…काम पर लौटे अन्यथा होगी कार्रवाई

बिलासपुर—एसईसीएल सीएमडी ए.पी. पण्डा ने श्रम संगठनों से हड़ताल से लौटने को कहा है। मालूम हो कि केन्द्रीय श्रम संगठनों ने संयुक्त रूप से दो दिवसीय आम हड़ताल का एलान किया है। हड़ताल के मद्देनजर ने एसईसीएल ने कंपनी संंचालन समिति की बैठक बुलाकर सभी श्रम संगठनो को देशहित में हड़ताल पर नहीं जाने को

बैंकरों ने सांसद को लिखित में बताया..संविलियन बैंक हित में नहीं…सांसद से कहा..मुद्दे को लोकसभा में उठाएं

बिलासपुर—-यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस ने बैंक मर्जर के खिलाफ और मर्जर प्रक्रिया को रोकने को लेकर एक कार्यक्रम के दौरान सांसद लखनलाल साहू को ज्ञापन दिया। बैंक यूनियन्स के स्थानीय संयोजक ललित अग्रवाल की अगुवाई में बैंकरों ने सांसद को मर्जर से होने वाले नफा नुकसान से परिचय कराया। बैंकरों ने निवेदन किया कि

बैंकरों ने कहा…बहुत हुई मन की बात..बताएं..प्यारा कौन..10 लाख कर्मी या चंद लुटेरे..अधिकार मांगते ही, खोखला हो जाता है बैंक

बिलासपुर— 21 और कि26 दिसम्बर को देश के 3 लाख से अधिक कर्मचारी और अधिकारी अपनी मांग को लेकर अखिल भारतीय स्तर पर हड़ताल पर जाने का एलान किया है। जाहिर सी बात है कि हड़ताल का असर आम जन जीवन पर पड़ने से इंकार नहीं किया जा सकता। क्योंकि इन दिनों बैंकिंग कार्य पूरी

बैंक अधिकारियों का एलान-ए-जंग…सहायक महासचिव ने कहा…गलत नीति और पालिसी मेकरों ने किया नुकसान

बिलासपुर—ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन के आह्ववान पर देश के तीन लाख से अधिक बैंक कर्मचारी और अधिकारी21 दिसम्बर को हड़ताल पर रहेंगे। कन्फडरेशन के सहायक महासचिव पीएनबी वरिष्ठ प्रबंधक ललित अग्रवाल ने बताया कि सात दिसम्बर को हड़ताल को लेकर जरूरी बैठक स्टेट बैंक शाखा व्यापार विहार में किया गया है। इस दौरान 21

नाराज महिलाओं ने कहा नहीं करेंगे मतदान…कलेक्टर कार्यालय का किया घेराव…कहा..अब करेंगे भूख हड़ताल

बिलासपुर—वसुन्धरा नगर के लोगों ने आज अच्छी खासी संख्या में कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर घेराव किया। नाराज महिलाओं ने कहा दो साल से कभी कलेक्टर कार्यालय तो कभी मंत्री..कभी सांसद सबका दरवाजा खटखटा चुके हैं। हर बार आश्वासन दिया जाता है कि शराब दुकान को लेकर व्यवस्था करेंगे। कभी चखना वालों को हटा दिया जाता है

अब अनियमित कर्मचारियों ने खोला मोर्चा…कहा..मांग पूरी करे सरकार..अन्यथा योजनाओं पर पड़ेगा असर

बिलासपुर— चार सूत्रीय मांग को लेकर अनियमित अधिकारी और कर्मचारियों ने प्रांतव्यापी हड़ताल का शंखनाद किया है। कोन्हेर गार्डन में कर्मचारियों ने धरना प्रदर्शन के दौरान बताया कि चार सूत्रीय मांग को लेकर अब तक शासन के सामने प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से पेश किया गया। बावजूद इसके उनकी मांगों को सरकार ने गंभीरता से नहीं

स्वास्थ्य संयोजकों की सरकार को धमकी….दूर करें वेतन विसंगति..अन्यथा 80 लाख बच्चों को नहीं लगेगा टीका

बिलासपुर— प्रदेश के ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजकों ने 17 जुलाई को सांकेतिक हड़ताल का एलान किया है। पत्रवार्ता में प्रदेश स्वास्थ्य संगठन कर्मचारी संघ के नेता ने बताया कि यदि सरकार उनकी मांगों को गंभीरता से नहीं लेती है…स्वास्थ्य विभाग पर गलत असर पड़ेगा। इसका खामियाजा सरकार को भुगतना होगा। इतना ही नहीं कर्मचारी नेता ने

अधिकारी,कर्मचारी और लिपिकों का एक साथ मोर्चा..सरकार पर बनाया दबाव..कार्यालयों में पसरा रहा सन्नाटा..अनिश्चितकालीन हड़ताल की धमकी

बिलासपुर— लिपिको ने एक साथ भागदौड़ की जिन्दगी को पूरे 12 घंटे जाम कर दिया। कार्यालयों के दरवाजे कहीं खुले तो कामकाजी लोग नदारद रहे। कई जगह तो कार्यालय के दरवाजे पर ताला लटका हुआ मिला। कुछ अधिकारी इधर उधर चैन से घूमते और भटकते नजर आए। बाकी सब कोन्हेर गार्डन में हड़ताल में शामिल