बिलासपुर—मांगी मुराद पूरी हो जाए तो क्या कहना…। बच्चों के बीच लोकप्रिय हो चुके कलेक्टर पी.दयानन्द ने ना केवल आदिवासी बच्चों की मुराद पूरी की..बल्कि बच्चों के साथ कुछ पल बीताकर अपने बचपन को याद भी किया।                       यदि मांगी मुराद बिना कुछ कहे पूरी हो जाए तो क्या कहना। यदि विश्वास नहीं तो इस