NARAYANPUR Archive

ओरछा में अब नहीं होगी नेटवर्क की समस्या,सौर ऊर्जा से संचालित हुआ मोबाइल टावर..बच्चों को ऑनलाइन पढ़ने में नही होगी दिक्कत

नारायणपुर-बिजली जनजीवन का मुख्य आधार है। थोड़ी देर के लिये भी बिजली चली जाएं तो सारी व्यवस्थाएँ ठप हो जाती है। अगर यह कहा जाएं कि बिजली के बिना जीवन सहज रूप से नहीं चल सकता तो यह अतिश्योक्ति नहीं होगी। लेकिन अब मोबाइल भी सामान्य जीवन से जुड़ा हुआ है। टावर बिजली से चलता

डी.एन.के.वार्ड कंटेनमेंट जोन से हुआ मुक्त,कलेक्टर ने जारी किया आदेश

नारायणपुर-कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी अभिजीत सिंह ने जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाए जाने पर समय-समय पर जारी आदेशों के तहत जिला मुख्यालय नारायणपुर के नगरीय क्षेत्र डी.एन.के.वार्ड को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था। इस कंटेनमेंट जोन में सक्रिय प्रकरणों की संख्या शून्य होने के उपरांत 14 दिन से अधिक अवधि गुजर जाने एवं

समय-सीमा की बैठक,कलेक्टर ने कहा-हाट-बाजार में लोगों के स्वास्थ्य परीक्षण कर उनका इलाज करें,धान चबूतरा निर्माण 30 जून से पहले पूरा करें

नारायणपुर।कलेक्टर अभिजीत सिंह ने कहा कि वन अधिकार मान्यता पटटों के वितरण के कार्य में तेजी लायी जायें। सामुदायिक वनाधिकार के पटटों का वितरण की कार्रवाई ज्यादा से ज्यादा की जायें। यह काम प्राथमिकता के आधार पर किया जायें। चाहे व्यक्तिगत दावे के प्रकरण हो या सामुदायिक दावे का निराकरण तेजी से किया जाये। संबंधित

मदिरा दुकानों के खुलने के समय में आंशिक संशोधन,प्रातः 8 से शाम 7 बजे तक खुलेंगी मदिरा दुकान

नारायणपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव हेतु शासन के निर्देशानुसार कलेक्टर अभिजीत सिंह ने मदिरा दुकानों के संचालन के समय भीड़ को नियंत्रित रखने के उद्देश्य से मदिरा दुकानों के संचालन हेतु आशिंक संशोधित आदेश जारी किये गये है। उक्त आदेश में कहा गया है कि जिले की समस्त देशी एवं विदेशी

कलेक्टर की अध्यक्षता में समय सीमा की बैठक,लापरवाही व बवेजह लंबित प्रकरणों वाले अधिकारियों पर होगी कार्यवाई,समय सीमा के सभी प्रकरणों का त्वरित निराकरण करें

नारायणपुर।कलेक्टर अभिजीत सिंह आज  समय-सीमा के प्रकरणों के निराकरण की साप्ताहिक बैठक में अधिकारियों से कहा कि आगामी दिनों में वे समयावधि-पत्रों के निराकरण की प्रगति की विस्तार से समीक्षा करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि वे देखेंगे कि कितने प्रकरणों का समय-सीमा में निराकरण हुआ है। लापरवाही एवं एवं बवेजह लंबित प्रकरणों वाले अधिकारियों

देखे VIDEO-नक्सल हिंसा ग्रस्त गांवों में शिक्षक ग्रुप बनाकर ले रहे ऑफलाइन वर्चुवल क्लास,पढ़ाई के साथ बच्चों को मिल रहा नाश्ता

नारायणपुर-आज पूरी दुनिया कोरोना वायरस से डरी हुई है। ऐसे में देश के हर प्रदेश में बच्चों की पढ़ाई चिंता का विषय बना हुआ है। स्कूल-कॉलेज बंद है। इस स्थिति से निपटने के लिए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की चिंता और मंशा के अनुरूप शिक्षा विभाग ने पूरे सिस्टम में कसावट की शुरूआत

समय पर आयेगा मानसून, किसान कर लें तैयारी – कृषि वैज्ञानिक दास

नारायणपुर।कृषि विज्ञान केंद्र, नारायणपुर के कृषि वैज्ञानिकों ने मानसून के सामान्य तिथि में आगमन को मद्देनजर रखते हुए जिले के किसानों को खरीफ सीजन की तैयारी पूरी करने की सलाह दी है।  कृषि विज्ञान केंद्र के कृषि मौसम वैज्ञानिक उत्तम दिवान ने बताया कि भारतीय मौसम विज्ञान केन्द्र के मुताबिक दक्षिण-पश्चिम मॉनसून केरल में एक

नारायणपुर-मनकू के घर भी पहुँची बिजली,पत्नी खुश हो कर बोली-इद हूड़ाय..वात बिजली(लो जी…आ गयी बिजली)अबूझमाड़ के 9 नक्सल हिंसा ग्रस्त गाँव में सौर संयंत्र स्थापित

नारायणपुर।जिले की विषम भौगोलिक परिस्थितियों और नक्सल प्रभावित दूर-दराज वाले इलाके में घर-घर तक बिजली की सुविधा मुहैय्या कराना सरकार के लिए चुनौतीपूर्ण कार्य था। लेकिन इस दिशा में अब किए गए कामों की जनता ने सराहना की है। जिन गाँवों में पारंपरिक विद्युत लाईन नहीं पहंुचाई जा सकी, वहां सौर ऊर्जा चलित संयत्र स्थापित

कोरोना: तनाव ग्रस्त मजदूरों का लौटने का सिलसिला शुरू,अब तक 70 लोग नारायणपुर लौटे

नारायणपुर-कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण और लगाये गये लॉकडाउन से तनाव ग्रस्त मजदूरों, श्रमिकों और अन्य लोगों का घर आने-जाने का सिलसिला शुरू हो गया है। नारायणपुर  जिले में विगत एक मई के बाद छत्तीसगढ़ सहित विभिन्न राज्यों राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तप्रदेश, झारखंड, उड़िसा, और तेलंगाना से लगभग 70 कामगार, श्रमिकों, छात्र-छात्राओं सहित अन्य लोग वापस

नारायणपुर जिले के विकास कार्यों, वनोपज संग्रह केंद्र का कमिश्नर खलखो ने किया निरीक्षण,फूलझाड़ू बनाने वाले महिला समूह के ब्रांडिंग के लिए स्टीगर बनवाने के दिए निर्देश

जगदलपुर-कमिश्नर अमृत खलखो ने आज नारायणपुर जिले के विकास कार्यों और वनोपज संग्रह केंद्रों का अवलोकन किया। नारायणपुर जिले के छेरीबेड़ा में स्थित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय का निरीक्षण के दौरान बालिका छात्रावास में हेल्प व विज़िटर टेस्क लगाने, विद्युत व्यवस्था के बैकअप के लिए इंवरटर लगाने के लिए निर्देश दिए। साथ ही विद्यालय में

दिल्ली स्वच्छ होगी अबूझमाड़ की झाड़ू से

नारायणपुर-छत्तीसगढ़ के वनांचल विभिन्न लघु वनोपज के अकूत भण्डार से परिपूर्ण है। वर्षों से दूरस्थ अंचलों में वनोपज संग्रहण एवं विक्रय ग्रामीणों की आय का प्रमुख स्रोत रहा है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप राज्य लघु वनोपज संघ निरंतर इन लघु वनोपज का उचित मूल्य संग्राहकों को दिलवाने हेतु प्रयासरत है। संघ

नारायणपुर-लॉकडाउन में फंसे छात्र श्रेयास सकुशल लौटे,बेमेतरा की छात्रा ममता की मदद कर लाये साथ

नारायणपुर।राजस्थान के कोटा में फंसे छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों के छात्र-छात्राओं का विगत मंगलवार से आना शुरू हो गया है। नारायणपुर के छात्र श्रेयास सिन्हा, पुत्र विशोका नन्द सिन्हा जयपुर में मेडिकल की कोचिंग कर रहे थे। वे भी शनिवार 2 मई को जयपुर से कोटा पहुँचकर सकुशल वापस आ गये है। उन्हें नारायणपुर के

COVID19-मास्क व साबुन बनाने में जुटी नारायणपुर स्वसहायता समूह की महिलायें

नारायणपुर।पूरी दुनिया जहाँ  नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) जैसी संक्रामक महामारी से जूझ रहा हैं। वहीं भारत देश के सभी प्रदेश इस बीमारी की रोकथाम हेतु एक जुट हैं। शासन-प्रशासन से लेकर स्वयंसेवी संस्थाएं भी कंधे से कंधा मिलाकर सहयोग कर रही हैं। ताकि हम सब मिलकर क़ोरोना जंग से पार पा सके और पूर्व की

जनता की सहूलियत के लिए और कुछ दुकानें सप्ताह में दो दिन खुलेंगी,नारायणपुर कलेक्टर एल्मा ने जारी किये आदेश

नारायणपुर-नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण के बचाव एवं रोकथाम हेतु आगामी 3 मई तक शासन के निर्देशों के परिपालन में चिन्हित अनुमति प्राप्त गतिविधियों के संबंध में कलेक्टर पी.एस.एल्मा ने दिशा-निर्देश जारी किये हैं। इनमें आयात/निर्यात हेतु पैक हाऊस जैसी संरचना, बीज एवं उद्यानिकी उत्पाद के निरीक्षण एवं ट्रीटमेंट सुविधायें के साथ ही वृक्षारोपण

“पढ़ई तुंहर दुआर”-चटाई पर,कोई चारपाई पर तो कहीं चेयर पर,हर घर पढ़ रहे बच्चें

नारायणपुर।वर्तमान समय में पूरी दुनिया कोरोना वायरस से जंग लड़ रही है। इसने सारी दुनिया में कोहराम मचा रखा है। देश में लॉकडाउन के कारण अन्य प्रदेशों के साथ ही छत्तीसगढ़ के हर जिले के स्कूल बंद है। हर व्यक्ति के जीवनकाल में जाने-अनजाने शिक्षक आते-जाते हैं। जिनमें हमारे माता-पिता का स्थान सर्वाेपरि है। लेकिन

CORONA फाइटर्स दीवारों पर लेखन और चित्र उकेर कर लोगों को कर रहे है जागरूक,जरूरतमंदों की मदद में दे रहे हैं अपना योगदान

नारायणपुर।कोरोना महामारी के संक्रमण के प्रसार से जंहा समूचा देश एवं प्रदेश परेशान हैं। नारायणपुर जिले में इसके संक्रमण को रोकने के लिए पुलिस विभाग के जवानों और जिले के युवाओं को जोड़कर कोरोना फ़ायटर्स नाम से वालिंटियर टीम का गठन किया गया है। कोरोना फ़ायटर्स के युवक अपनी-अपनी कला के जरिये लोगों को जागरूक

कोरोना प्रभावितों की मदद के लिए मासूम छात्र विवेक ने डोनेशन ऑन व्हील में दी अपनी गुल्लक, गुल्लक से निकले 1200 रुपए

नारायणपुर-नोवल कोरोना वायरस ने भारत सहित पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है। तेजी से फैलने वाले इस खतरनाक वायरस से देश के हजारों लोग संक्रमित हो चुके और कई लोगों की असमय जान जा चुकी है। वैश्विक महामारी घोषित कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण की वजह से मानवता गम्भीर संकट से जूझ रही है। कोरोना

जिला स्तरीय कोर कमेटी की बैठक :बिना मास्क पहने घर से बाहर निकलने पर होगी कार्यवाही-कलेक्टर एल्मा

नारायणपुर।कलेक्टर पी.एस.एल्मा की अध्यक्षता में कोरोना वायरस के संक्रमण एवं रोकथाम हेतु जिला स्तर पर गठित कोर कमेटी की बैठक हुई। कलेक्टर ने कहा कि  देश में बढ़ते कोरोना वायरस के खतरे को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ में भी अब मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। राज्य सरकार ने आदेश जारी किया है

मध्यान्ह भोजन:अबूझमाड़िया पालकों ने परम्परागत दोना में ग्रहण किया बच्चों का सूखा राशन,सोशल डिस्टेंसिंग का रखा ख्याल

नारायणपुर-नक्सल प्रभावित जिला नारायणपुर के 568 स्कूल, शाला आश्रमों के बच्चों के 22491 पालकों को 2,24,910 किलो चावल और 40,484 किलो दाल चालीस दिनों के लिए वितरण किया गया है। विकासखण्ड ओरछा (अबूझमाड़) मुख्यालय से लगभग 15 किलोमीटर दूर धुर नक्सल हिंसाग्रस्त गांव छोटेटोण्डाबेड़ा में संचालित शाला आश्रम में अध्यनरत बच्चों के अभिभावकों ने परम्परागत

अबूझमाड़ पीस हाफ मैराथन:हजारों धावकों को पीछे छोड़ मेघालय के शंकर मान थापा ने बाजी मारी,दल्लीराजहरा के रामनारायण को तीसरा स्थान

रायपुर।आबकारी एवं उद्योग मंत्री कवासी लखमा ग्राम बासिंग, ओरछा विकासखंड के अबूझमाड़ पीस हाफ मैराथन के पुरस्कार वितरण कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने विजयी धावकों को पुरस्कार वितरण किया। ‘‘अबूझमाड़ पीस हॉफ मैराथन‘‘ दौड़ में हजारों धावकों ने दौड़ लगायी, जिसमें पुरूष वर्ग में मेघालय के शंकर मानथापा ने 1 घंटा 2 मिनट में 21
loading...