SHYAMLAL Archive

पद्मश्री के जीवन पर डाला गया प्रकाश…साहित्यकारों ने कहा…उनकी रचनाओं से आती है माटी की ताजी सौंधी खुश्बू

बिलासपुर—नगर में साहित्यिक अलख जगा रहे आयोजक मण्डल ने कविता चौपाटी से” के बैनर तले प्रेस क्लब में कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम की् छठी कड़ी में प्रदेश के लब्ध प्रतिष्ठित साहित्यकार पत्रकार पद्मश्री पंंडित श्यामलाल चतुर्वेदी रचना पर प्रकाश डाला गया। गरिमामय कार्यक्रम में पंडित चतुर्वेदी की रचना पर्रा भर लाई छरियाये का पाठ

पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी के सपनों को मिलकर करेंगे पूरा…मुख्यमंत्री ने कहा…खिसियानी बिल्ली जैसी हुई भाजपा की हालत

बिलासपुर– मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अल्प प्रवास पर बिलासपुर पहुंचे। निजी कार्यक्रमों मेंं हिस्सा लिया। उन्होने पद्मश्री स्वर्गीय पंडित श्यामलाल के निवास पहुंचकर श्रद्धासुमन भेंट किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पद्मश्री पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी के सपनों को पूरा करना अब हम लोगों की जिम्मेदारी है। उनके सपनों को पूरा करेंगे। मिलजुलकर छत्तीसगढ़ भाषा को आठवी अनुसूची

पंडित श्यामलाल का सपना करेंगे पूरा..जब सरोज पाण्डेय ने..कहा..आठवीं सूची में मिलेगा छत्तीसगढ़ी भाषा को स्थान

बिलासपुर— पद्मश्री पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी के सपने को जरूर साकार किया जाएगा। छत्तीसगढ़ी भाषा को राजभाषा का दर्जा दिलाने कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे। हर हाल में प्रयास कर छत्तीसगढ़ी भाषा को संविधान की आठवीं सूची में शामिल करने का भगीरथ प्रयास किया जाएगा। यह बातें भाजपा की राष्ट्रीय महामंत्री राज्यसभा सांसद सरोज पाण्डेय ने

महीनों बाद जागा नौकरशाह…पद्मश्री श्यामलाल से मांगा..जीने की निशानी…निधन पर नहीं मिला राजकीय सम्मान

बिलासपुर— डैडी फिल्म में एक गजल को अभिनेता अनुपम खेर मंच से गुनगुनाते हुए दिखाई देते हैं…गजल की लाइन कुछ इस प्रकार है कि आईना फिर मेरी पहली सी सूरत मांगी..मेरे अपने मेरे होने की निशानी मांगी। यह पंक्ति कही फिट बैठे या ना बैठे  लेकिन छत्तीसगढ़ के नौकरशाहों पर सौ प्रतिशत सटीक बैठती है।

पंडित जी के सपनों को करेंगे साकार…श्रद्धांजलि देने वालों का लगा तांता…संस्मरण को किया साझा

बिलासपुर— सोमवार को पद्मश्री स्वर्गीय श्यामलाल चतुर्वेदी को श्रद्धांजलि देने छत्तीसगढ़ राज्य लघु एवं सहायक उद्योग संघ के अध्यक्ष हरीश केडिया निवास स्थान पहुंचे। हरीश केडिया ने पंडित श्यामलाल के छाया चित्र पर पुष्प अर्पित कर सजल आंखों से याद किया। उनके योगदान को उपस्थित लोगों के साथ साझा किया।                                       इस दौरान संस्कृति विभाग

श्रद्धांजलिः धरम ने कहा स्मृति को बनाएंंगे अक्षुण…अमर ने बताया…अमर रहेगा पंडित जी का योगदान…

बिलासपुर—भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि पद्मश्री स्वर्गीय पंडित चतुर्वेदी का जाना शहर और प्रदेश के लिए अपूरणीय क्षति है। पंडित श्यामलाल के निवास पहुंचकर पुष्प अर्पित करने के बाद कौशिक ने शोक जाहिर किया। उन्होने कहा कि पंडित श्यामलाल की स्मृति को अक्षुण रखने की दिशा में कार्य किया जाएगा।

आखिर कौन सी अंतिम ईच्छा रह गयी अधूरी…पद्मश्री श्यामलाल ने किसकों पत्र लिखने को कहा था…विस्तार से पढ़ें

बिलासपुर—पद्मश्री श्यामलाल ने शुक्रवार की सुबह आठ बजकर 40 मिनट पर 93 साल की लम्बी यात्रा के बाद अंतिम सांस ली।  निधन का समाचार मिलते ही बिलासपुर समेत पूरा प्रदेश गमगीन हो गया। सभी ने अश्रुपूरित श्रद्धांजली देकर पद्मश्री श्यामलाल के योगदान को याद किया। लोगों ने उनके साथ बिताए अनभवों को साझा कर प्रदेश

महामण्डलेश्वर से महंत ने मांगा आशीर्वाद….डॉ. चरणदास ने कहा….पंडित श्यामलाल को प्रदेश रखेगा याद

बिलासपुर— पूर्व केन्द्रीय मंत्री और छत्तीसगढ़ कांग्रेस इलेक्शन कैम्पैन कमेटी चेयरमैन डॉ.चरणदास महंत ने महामण्डलेश्वर स्वामी शारदानंद सरस्वती के दरबार में पहुंचकर आशीर्वाद मांगा है। डॉ.महंत जांजगीर-चांपा जिले के सक्ती निवासी घासीराम अग्रवाल के निवास पहुंचे। महामंडलेश्वर स्वामी शारदानन्द सरस्वती का चरणस्पर्श किया।                   पूर्व केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री और छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस इलेक्शन कैम्पेन कमेटी

पंचतत्व में विलीन हुए पद्मश्री श्यामलाल…प्रशासन और गणमान्य लोगों ने दी अंतिम विदाई…कहा..प्रदेश को अपूरणीय क्षति

बिलासपुर—पद्मश्री पंडित श्यामलाल पंचतत्व में विलीन हो गए। इसके पहले पद्मश्री का विधि विधान से अंतिम यात्रा निकली। शव यात्रा में शहर के गणमान्य लोग शामिल होकर पंडित श्यामलाल को अश्रुपूरित श्रद्धांजली भेंट की। जिला और पुलिस प्रशासन की तरफ से पंडित श्यामलाल के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर नमन् किया। सभी लोगों

सीएम ने पूछा पद्मश्री श्यामलाल से कुशलक्षेम…शनिवार को होगा हिप ज्वाइंट का आपरेशन…दस सदस्यीय टीम करेगी इलाज

बिलासपुर—रायपुर स्थित रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल में भर्ती पद्मश्री पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी का आपरेशन शनिवार को सुबह 9 से 10 के बीच किया जाएगा। मालूम हो कि 12 अक्टूबर को घर में गिरने से पद्मश्री श्यामलाल की कुल्हे की हड्डी में चोट आयी। परिजनों ने तत्काल इलाज के लिए स्थानीय निजी अस्पातल में भर्ती कराया। स्थिति

सिमगा के पास एम्बुलेन्स में लगी आग…बाल बाल बचे पद्मश्री पं.श्यामलाल चतुर्वेदी…रामकृष्ण केयर में चल रहा इलाज

बिलासपुर…बिलासपुर के गौरव पद्मश्री पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी को बेहतर इलाज के लिए रायपुर स्थित रामकृष्ण केयर में भर्ती किया गया है। जानकारी के अनसुार जब एम्बुलेन्स सिमगा पहुंची तो बोनट में आग लग गयी। आनन फानन में पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी को सुरक्षित निकालकर रामकृष्ण केयर में भर्ती कराया गया। मालूम हो कि पद्मश्री पंडित श्यामाल

पद्मश्री पंडित श्यामलाल ने अटलजी के साथ अनुभवों को किया साझा…बताया..जाजोदिया धर्मशाला में रूके थे भारत रत्न

बिलासपुर(सीजीवाल)—पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी करोड़ों भारतीयों के दिल में जगह बनाकर हमेशा हमेशा के विदा हो गए। खबर मिलते ही देश के साथ बिलासपुर शहर भी सन्नाटे में डूब गया। निधन की खबर मिलते ही..क्या कांग्रेस..क्या भाजपा और क्या आम और क्या खास सभी अवाक हो गए। एक बार तो लोगों को विश्वास ही

जब पंडित श्यामलाल से मिलकर ठहाका लगाई विदेश मंत्री..सुषमा ने पूछा हालचाल..हाथ जोड़कर पद्मश्री ने दिया जवाब

बिलासपुर– पद्मश्री अलंकरण के ठीक एक दिन पहले रिहर्सल प्रक्रिया के बाद शाम को दिल्ली में गृहमंत्री राजनाथ सिंह,विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजजू पद्म विभुतियों से रूबरू हुए। सभी लोगों से केन्द्रीय मंत्रियों ने कुशल क्षेम पूछा। क्षेत्र की जानकारी ली। अनुभवों को आपस में बांटा। बातचीत के बाद पंडित

2 अप्रैल को पद्मश्री से सम्मानित होगा बिलासपुर का लाल…पं.श्यामलाल चतुर्वेदी ने किया रिहर्सल..महेन्द्र सिंह धोनी भी हुए शामिल

नई दिल्ली– बिलासपुर की आन बान शान बन चुके पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी.. सोमवार को देश के प्रथम नागरिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द के हाथों पद्मश्री से सम्मानित होंगे। रविवार दोपहर राष्ट्रपति भवन  के दरबार हाल में पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी समेत 43 पद्म अलंकरण से सम्मानित होने वालों ने रिहर्सल किया। इस दौरान महान क्रिकेटर महेन्द्र सिंह

पंडित श्यामलाल और उनकी साहित्य साधना…CM ने किताब का किया विमोचन..पद्मश्री को दी बधाई

बिलासपुर— मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंंह ने पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी और उनकी साहित्य साधना किताब का विमोचन किया। लेखक डॉ.सुषमा शर्मा को बधाई दी है।  विमोचन बिलासपुर प्रेस क्लब लोकार्पण कार्यक्रम के मंच से किया गया। विमोर्चन समारोह के दौरान मंच पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंंह के अलावा नगरीय निकाय मंत्री अमर अग्रवाल, मंत्री पुन्नूलाल मोहिले,छत्तीसगढ़ गृह

किसी भी थाने में दर्ज नहीं पद्मश्री के खिलाफ आरोप…फिर भी बना दिया आरोपी..फोरम ने माना आवेदक ने की कूटरचना

बिलासपुर—92 साल की उम्र में पद्मश्री श्यामलाल चतुर्वेदी को ऐसा दिन देखना पड़ेगा शायद उन्हें भी इसकी संभावना नहीं रही होगी। फिर भी होनी को कौन टाल सकता है। पद्मश्री मिलने के बाद उनके खिलाफ धोखाधड़ी और घोटाला को लेकर जमकर लिखा पढ़ा गया। लिखने के पहले यदि अरूण कुमार कश्यप के आरोप दस्तावेजों को

अनोखी साजिश के शिकार हुए माटी पुत्र पद्मश्री श्यामलाल चतुर्वेदी…प्रकरण दर्ज नहीं…फिर भी उछाला गया कीचड़

   बिलासपुर—पत्रकारिता का पहला धर्म…लिखने के पहले तथ्य तक पहुंचे। लेकिन पद्मश्री श्यामलाल चतुर्वेदी के साथ लिखने से पहले ऐसा कुछ नहीं किया गया। सुनकर और तथ्यहीन तर्को के सहारे कुछ इस तरह की स्टोरी गढ़ दी गयी कि लोग झूठ को सच मानने को मजबूर हो गए। जिन दस्तावेजों को अाधार मानकर स्टोरी लिखी