डिजिटल Archive

डिजीटल होगा राजघाट,गांधी समाधि पर मिलेंगी बेहतर सुविधाए

नईदिल्ली।दिल्ली में राजघाट स्‍थित गांधी समाधि पर बड़ी संख्‍या में आने वाले लोगों को बेहतर अनुभव दिलाने के लिए लगभग 3 करोड़ रुपये की लागत वाले कई कामो को बुधवार को मंजूरी मिली।मंजूर किए गए कामो में तीन डिजिटल स्‍क्रीन लगाना, महात्‍मा गांधी के जीवन एवं कार्यों के बारे में संवादात्‍मक अनुभव सुनिश्‍चित करने के लिए

भारत में डिजीटल भुगतान, बहुत बड़ी क्रांति–निहारिका

बिलासपुर—-बिलासपुर में एक दिवसीय डिजिधन व्यापार मेले का आयोजन किया गया। संभागायुक्त निहारिका बारिक सिंह ने कहा कि आने वाले समय में हर चीज डिजिटल होगा। डिजिटल ट्रांजेक्शन के लिए लोगों को मानसिकता बनानी होगी।                  स्व.लखीराम अग्रवाल स्मृति आॅडिटोरियम में एक दिवसीय डिजिधन व्यापार मेले का शुभारंभ निकारिका बारिक ने किया। उन्होने

डिजिटल भुगतान करने पर रेल मंत्रालय का पैकेज

बिलासपुर—रेल मंत्रालय ने कैशलेस को बढ़ावा देने पैकेज का एलान किया है। 1 जनवरी से कैशलेस टिकटिंग करने वालों को किराये में छूट दी जाएगी। रेल प्रशासन ने आरक्षित और अनारक्षित यात्री टिकटों के लिए सभी सुविधा केन्द्रों को पीओएस मशीनें लगाने को कहा है। सभी बैंकों के डेबिट और क्रेडिट कार्डों से यात्रा शुल्क

दशकों तक होगी प्रधानमंत्री के आर्थिक क्रान्ति की चर्चा

रायपुर।भाजपा प्रदेश प्रवक्ता एवं विधायक शिवरतन शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के राष्ट्र के नाम संदेश को अभूत पूर्व और ऐतिहासिक बताया है। शर्मा ने कहा कि एक जमाने में लोग हरित क्रान्ति की चर्चा किया करते थे, सन् 2017 में लोग प्रधानमंत्री के द्वारा उठाए गए नोटबंदी के कदमों के फलस्वरूप होने वाली आर्थिक

कैसलेश से कालाधन पर कसेगा शिकंजा

बिलासपुर—न्यू कंपोजिट बिल्डिंग में डिजिटल वित्तीय सहायता पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्य़शाला को निकाय मंत्री ने संबोधित किया। उन्होने कहा कि कैशलेस व्यवस्था वर्तमान में देश को जरूरत है। इससे कालेधन पर लगाम लगेगा। पैसी की क्षमता बढेंगी। बैंको का लोन भी आसान होगा।                                        मुख्य अतिथि अग्रवाल ने कहा कि कैशलेस व्यवस्था

पांच गांवों को बनाएंगे कैशलेस ग्राम..कलेक्टर

बिलासपुर—कलेक्टर ने मंथन सभागार में अधिकारियों को निर्देश दिया कि डिजिटल ट्रांजेक्शन के लिए जनसामान्य, व्यापारी, उद्योगपति, विद्यार्थी, अधिवक्ता, जनप्रतिनिधि, पत्रकारों और समाज के विभिन्न वर्गों को अधिक से अधिक प्रशिक्षण दिया जाये। विकासखण्ड स्तर पर एसडीएम जनपद के सीईओ, तहसीलदार, नगरीय निकायों के अधिकारी, पंचायत सचिव, रोजगार सहायक, सभी शासकीय विभाग, निगम मण्डल के