बिलासपुर— रामचरित मानस को आध्यात्म के चश्मे से हटकर विज्ञान की नजर से भी देखने की जरूरत है। रामचरित मानस मानव जीवन का सबसे बड़ा दर्शन ग्रंथ है। जीवन और विकास के सभी पहलुओं का इसमें समावेश है। गोस्वामी के मानस में आज तक किसी प्रकार का संशोधन सुनने या पढ़ने को नहीं मिला। इसमें