रायपुर।संविलियन पश्चात प्रदेश के शिक्षाकर्मियों के बीच, एक ओर लंबे संघर्ष के बाद मिली शासकीयकरण की खुशी रही तो दूसरी ओर संविलियन से छूटे हुए तथा सहायक शिक्षक (वर्ग3) अपने न्यूनतम वेतनमान को लेकर असंतोष दिखे।प्रदेश के शिक्षाकर्मी संविलियन आंदोलन के पूर्व लगभग 14 संगठन अपना अलग अलग गतिविधियां करते रहे किन्तु उन्हें कोई सफलता