बिलासपुर— घोषणा के करीब आठ – दस महीने के बाद भी खोंदरा में वन्यप्राणी रहवास केन्द्र नहीं बना। लगता है योजना धीरे-धीरे ठण्डे बस्ते में चली गयी है। बताया जा रहा है कि सीसीएफ ने कभी योजना को गंभीरता से लिया ही नहीं। जबकि मुख्यमंत्री ने सार्वजनिक मंच से घोषणा की थी कि खोंदरा में