बिलासपुर। एक ही पाठ्यक्रम में घिसट-घिसट कर वर्षो तक पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों, गैर गंभीर और शिक्षा को हल्के से लेने वाले असमाजिक विद्यार्थियों के लिए के बुरी खबर है यदि वे स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम के लिए तय सीमा में पढ़ाई पूरी नहीं करते हैं तो उन्हें शिक्षा के लिए अपात्र घोषित कर विश्वविद्यालय