बिलासपुर—दिल्ली के रामलीला मैदान में विपक्षी नेताओं की एक रैली थी. रैली 4 बजे शुरू हो गई थी। लेकिन अटल बिहारी बाजपेयी की बारी आते आते रात के साढ़े नौ बज गए थे। जैसे ही वाजपेयी बोलने के लिए खड़े हुए, वहाँ मौजूद हज़ारों लोग भी खड़े हो कर ताली बजाने लगे। वाजपेयी ने फिर