AITUC Archive

एफडीआई का विरोध…कोयला संगठनों ने खोला मोर्चा..1 दिन की हड़ताल में अरबों का नुकसान…एक छटाक भी नहीं हुआ उत्पादन

बिलासपुर— अखिल भारतीय स्तर पर बुधवार को देश के पांचों कोयला मजदूर संगठन ने एक दिवसीय हड़ताल किया। एसईसीएल एटक महामंत्री हरिद्वार सिंंह ने बताया कि एक दिन की हड़ताल में देश के किसी भी खदान से एक छटाक भी कोयला का उत्पादन नहीं हुआ है। केन्द्र सरकार की हठधर्मिता के चलते देश को अरबों

कोयला मजदूर नेता रमेन्द्र के कड़वे बोल…विरोधियों को नहीं लेने देंगे चैन की नींद..एसईसीएल के सामने दिया धरना

बिलासपुर–संयुक्त कोयला मजदूर संघ एटक के बैनर तले मजदूरों ने एसईसीएल मुख्यालय के सामने धरना प्रदर्शन किया। संगठन नेताओं के साथ कोयला मजदूरों ने केन्द्र सरकार और प्रबंधन पर कमर्शियल माइनिंग एक्ट को वापस लेने का दबाव बनाया। सार्वजनिक क्षेत्र का विनिवेश बंद करने का विरोध भी किया। इस दौरान मजदूरों ने मांगो को लेकर

अभिव्यक्ति का घोंटा जा रहा गला…कामरेड पूर्व सांसद ने कहा… मजदूर विरोधी सरकारी नीतियों का करेंगे विरोध

बिलासपुर–कोयला खदान में कमर्शियल माइनिंग के फैसले से कोयला उद्योग बर्बाद हो जाएगा। ,सार्वजनिक उपक्रम नष्ट हो जाएंगे। निजी कंंपनियांं मजदूरों का जीना मुश्किल कर देंगे। मजदूरों का जीना मुश्किल हो जाएगा। उनका बेतहाशा शोषण होने लगेगा। यह बातें पूर्व सांसद और मजदूर नेता कामरेड रमेन्द्र कुमार ने पत्रकारों के बीच कही।                    कामरेड रमेन्द्र