(सीजीवाल पड़ताल):शिक्षा विभाग में बहुत सारे बहुत महत्वपूर्ण पदों पर प्रभार वाद के जरिए मनचाही पोस्टिंग देकर लोगों को प्रेरित किया जा रहा है। लेकिन जब एजुकेशन में परफॉर्मेंस की बात आती है तो ऐसे ही प्रभारवाद वाले फिसड्डी साबित होते हैं जिससे न सिर्फ शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन में विलंब होता है बल्कि प्रशासन