इश्क का जौक–ए-नजारा मुफ्त में बदनाम है, हुश्न खुद बेताब है,जलवे दिखाने के लिए !! मशहूर शायर मजाज लखनवी साहब की ये लाइने यकीनन हुस्न- ओ- इश्क की दुनिया को लेकर लिखी गईं हैं। लेकिन बिलासपुर शहर में कांग्रेस की राजनीति में उम्मीदवारों की दावेदारी  को लेकर जो कुछ चल रहा है, उसके पेशे नजर