बिलासपुर—कुछ तो रही होगी मजबूरी..यूं ही कोई बेवफा नहीं होता...मुकम्मल शेर है…। फिल्म कठोर देखने के बाद शेर के वजन को महसूस किया जा सकता है। पत्रकार रवि शुक्ला की फिल्म कठोर निश्चित रूप हिन्दी फिल्म जगत में मील का पत्थर साबित होगा। खासतौर पर छत्तीसगढ़  में कठोर को ट्रैंड चैंजर के रूप में देखा