नई दिल्ली-सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के ताजा फैसले से 42 करोड़ ग्राहकों के जीवन पर बड़ा असर पड़ने वाला है. दरअसल, SBI ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (MCLR) में 0.05 फीसदी की कटौती कर दी है. MCLR घटने के बाद एसबीआई के ग्राहकों का होम लोन, ऑटो लोन, पर्सनल लोन सस्ता