नईदिल्ली।एक बड़ा फैसला लेते हुए रक्षा मंत्रालय ने दो साल पहले के फैसले को वापस ले लिया है जिसमें उसने सिविलियन और मिलिटरी ऑफिसर्स के रैंक को बराबरी पर लाया था। इसको लेकर सेना में काफी नाराज़गी भी थी।रक्षा मंत्रालय ने कहा, ‘सैन्य अधिकारियों और सेना मुख्यालय के सिविल अधिकारियों (AFHQ CS) की समानता को