बिलासपुर— गोस्वामी तुलसीदास नाम के मोहताज नहीं है। उनके बारे में कुछ भी कहने का अर्थ सूरज को दिया दिखाने जैसा है। गोस्वामी तुलसीदास की वाणी शाश्वत और अमर है। उन्होने अपने लेखन से इस दुनिया को जीवन का जीवन्त दर्शन पेश किया है। इस बात को आज की वैज्ञानिक दुनिया भी दुनिया शिद्दत के