बिलासपुर-रूद्रातिरूद्र महायज्ञ में पधारे स्वामी सच्चिदानंद जी महाराज ने यज्ञ के महत्व के बारे में बताया कि वेदों पुराणों में यज्ञ परिपालन राष्ट्र की समृद्धि और देवताओं की संतुष्टि के लिए किया जाता है। जिस तरह एक किसान धरती मां को एक किलो अनाज बीज के रुप में डालकर दान देता है, और सिर्फ 4