सही आर्थिक एवं सामाजिक नीति से बना देश – अटल, ए. वी. एम में मना ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’

बिलासपुर । आधारशिला विद्या मंदिर कोनी में आयोजित ‘आज़ादी के अमृतोत्सव’ कार्यक्रम में अटल श्रीवास्तव, अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल ने बच्चों से संवाद किया | उन्होंने बच्चों से उनके शोध एवं प्रस्तुतियों को समझा एवं अपने अनुभव भी सुनाये | इस कार्यक्रम में बच्चों ने आजादी के बाद के सफ़र की समीक्षा के आधार पर कई सृजनात्मक प्रस्तुतियां दी |

कार्यक्रम की शुरुआत में शाला के चेयरमैन डा. अजय श्रीवास्तव, डायरेक्टर एस. के जनास्वामी, एवं प्रिंसिपल श्रीमती जी. आर मधुलिका ने सभी अतिथियों का स्वागत किया | कार्यक्रम में सम्मानित अथितियों में रोटरी क्लब ऑफ़ बिलासपुर क्वींस से श्रीमती वंदना सिंह, प्रेसिडेंट, श्रीमती मनीषा जायसवाल, वाईस प्रेसिडेंट, श्रीमती रश्मि जैन, सेक्रेटरी, एवं रिओ एव्न्ट्स से श्रीमती रिम्पी एवं स्वरिश सिंह उपस्थित रहे |
इस कार्यक्रम में बच्चों ने अपनी बात कहने के लिए पॉवर पॉइंट प्रेजेंटेशन, मॉडल एवं नाट्यकला को माध्यम के रूप में चुना | उन्होंने आजादी के बाद से अब तक की कुछ प्रमुख उपलब्धियों को दर्शाया | जैसे – सुदृढ़ नीतियों का निर्माण, आर. बी. आई का गठन, बैंकों का राष्ट्रीयकरण, इसरो की स्थापना, हरित क्रांति, नयी आर्थिक नीतियां, वैश्वीकरण, आदि | इनमें से अधिकांश टॉपिक विज्ञान या सामाजिक विज्ञान से जुड़े थे | अतः उन्हें समझने में विशेष कठिनाई नहीं हुयी और वे इसकी गहराई तक जा सके | सभी मॉडल काफी रोचक एवं सुन्दर लग रहे थे एवं जजों को निर्णय करने में काफी कठिनाई हुयी |

अटल श्रीवास्तव, अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल ने आजादी का अमृतोत्सव कार्यक्रम के उपलक्ष्य में सर्वप्रथम गांधीजी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त किया | उन्होंने बच्चों को महात्मा के नेतृत्व क्षमता और बल के बारे में भी बताया | उन्होंने बच्चों के द्वारा प्रस्तुत किये गए कार्य को देख कर कहा कि सच में 75 वर्ष पहले संसाधनों का बहुत अभाव था, बेतहाशा गरीबी और भूखमरी थी | देश के लिए प्रतिबद्ध लोगों की वजह से ही हम प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ पायें हैं | हमें पूरी उम्मीद है कि आप सब भी देश के लिए योगदान करेंगे और कोई ऐसी बात नहीं करेंगे जिससे की समाज में कोई फूट पैदा हो | साथ ही अपनी पढाई मौज-मस्ती और आनंद का भी ध्यान रखें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *