फरार सरगना गिरफ्तार,7 कम्प्यूटर और कार बरामद,3 खरीददार भी पकड़ाए

बिलासपुर। सरकंडा पुलिस ने डीएलएस कॉलेज से कंप्यूटर चोरी करने वाले मुख्य आरोपी लाइब्रेरी अटेंडेंट को गिरफ्तार किया है।  तीन खरीददारों को भी हिरासत में लिया गया है।जानकारी देते चले कि डीएलएस कॉलेज के प्राचार्य ने 9 जुलाई को कॉलेज के कंप्यूटर विभाग से 7 कंप्यूटर चोरी होने की शिकायत की थी। शिकायत के साथ ही  प्राचार्य ने पुलिस को सीसीटीवी फुटेज भी दिया।  फुटेज में कंप्यूटर विभाग से कंप्यूटर चोरी करने वाले आरोपियों की पहचान की गई । 

         सरकंडा पुलिस ने शिकायत के बाद सीसीटीवी फुटेज में दिखने वाले तीन आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 457 और 380 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया । तत्कालीन समय जांच पड़ताल के दौरान सरकंडा पुलिस ने कंप्यूटर चोरी करने के आरोप में दो आरोपियों को धर दबोचा । पकड़े गए दोनो आरोपियों  शिवम और दीपक राजपूत को समय कोर्ट में पेश कर जेल भेजा  गया ।

 सरकंडा थाना प्रभारी जेपी गुप्ता ने बताया कि दोनों आरोपियों को जेल भेजने के बाद कॉलेज से कंप्यूटर चोरी करने वाले मुख्य सरगना की तलाश लगातार की जा रही थी ।इसी दौरान मुखबीर से खबर मिली कि मुख्य आरोपी शुभम पांडे अशोक नगर तिराहे के पास घूम रहा है। जानकारी मिलते ही पुलिस टीम को मौके पर रवाना किया गया। घेराबंदी कर शुभम पांडे को हिरासत में लिया गया।

 पूछताछ के दौरान शुभम पांडे ने कुल 7 कंप्यूटर चोरी करने की बात को कबूल किया ।शुभम ने बताया कि चोरी के बाद कंप्यूटर घर में छिपाकर रखा। शुभम ने बताया कि  तीन कंप्यूटर थाना सरगांव जिला मुंगेली के हरि विश्वकर्मा बजरंग, विश्वकर्मा और अशोक विश्वकर्मा के पास पांच ,,पांच हजार में बेच दिया है।

 शुभम पांडे की निशानदेही पर पुलिस ने तीनों खरीददारों को भी हिरासत में लिया है ।अन्य आरोपियों से कुल 5 कंप्यूटर और घटना में उपयोग लाए गए शुभम पांडे की स्विफ्ट कार को  जप्त किया  है।

 जेपी गुप्ता ने बताया कि शुभम पांडे डीएलएस कॉलेज में लाइब्रेरी अटेंडेंट के पद पर काम करता है। इसके पहले कालेज के ही चपरासी शिवम गौराहा और बदरा थाना पथरिया निवासी दीपक राजपूत को गिरफ्तार किया जा चुका है। शुभम पांडे समेत तीनो खरीदारों को न्यायिक रिमांड में जेल भेजा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *