इंडिया वाल

डिप्टी रेंजर के घर लूट के 8 आरोपी गिरफ्तार

कांकेर।डिप्टी रेंजर के घर में लूट में शामिल 8 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। साथ ही साथ लूटे गये 4 सोने के कंगन, 2 मोबाईल तथा लूटे गये रूपये से खरीदे सोने का नेकलेस, चांदी का 3 जोड़ी पायल, मोबाईल लूटे गये 3 लाख रुपए की नगद, जेवर व मोबाईल सहित कुल सात लाख की सम्पत्ति को जब्त किया गया। घटना में प्रयुक्त 3 मोटर सायकल को भी जब्त करने में पुलिस अनुविभाग पखांजूर से गठित टीम को सफलता मिली है।

पुलिस के अनुसार बड़े कापसी फॉरेस्ट कालोनी स्थित डिप्टी रेंजर भारत सलाम के निवास में 1 सितंबर के दरमियानी रात 7 नकाबपोश लूटरों ने उनके घर का दरवाजा खुलवाकर तलवार तथा गंडासा के बल पर धमकाते हुए घर में घुसकर पूजा रूम में रखे आलमारी का चाबी लेकर डकैतों द्वारा आलमारी खोलकर नगदी रकम व 4 सोने की चूड़ी तथा 4  मोबाईल को लूटकर ले गये थे। घटना की रिपोर्ट डिप्टी रेंजर ने 6 सितंबर को थाना पखांजूर में दर्ज कराई ।

 पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा के निर्देश पर डकैतों को पकडऩे के लिए एक विशेष टीम तैयार की गई। इस टीम को परलकोट क्षेत्र में लूट, डकैती, हत्या जैसे गंभीर अपराधो को अंजाम देकर सजा काटकर क्षेत्र में रह रहे सजायाबी पर नजर रखने निर्देशित किया गया । एसपी के निर्देश पर परलकोट ईलाके के सजायाबी पर सादा ड्रेस में पखांजूर पुलिस के जवानों द्वारा अपने अपने बीट ग्राम में तैनात होकर सूचना एकत्र करने लगे।

तभी पीव्ही 17 रविन्द्रनगर के बीट प्रभारी सउनि. भगवान सिंह ठाकुर को सूचना मिली कि पूर्व में डकैती के प्रकरण में जेल जा चुका कालू उर्फ अनादि दो-तीन दिन से दारू मुर्गा की पार्टी कर रहा है। यह खबर मिलते ही पखांजूर पुलिस की टीम एक्सन में आई और तत्काल ही पूर्व सजायाबी कालू उर्फ अनादि को दबोचकर पूछताछ किया गया।

तीस लाख से अधिक कोरोना मामलों वाला भारत तीसरा देश

पूछताछ में  आरोपी कालू उर्फ अनादि ने स्वीकार किया कि पीव्ही 42 रहवासी समीर बैरागी जो पूर्व में हत्या जैसे गंभीर अपराध में 5 साल सजा काटकर आया मुख्य सरगना है , जो अपने दुर्ग के 4 साथी को लाकर कापसी फॉरेस्ट कालोनी के एक घर में नकाब पहनकर गंडासा लेकर भारत सलाम के मकान को खुलवाकर डरा धमकाकर आलमारी में रखे रूपये व 4 सोने के कंगन तथा मोबाईल को 6 लोग लूट कर भाग गये थे तथा मुख्य गेट में एक व्यक्ति पहरा दे रहा था, बाद में पहाड़ी में स्थित एक मंदिर प्रांगण में जाकर लूट गये रकम व जेवर को हिस्सा बंटवारा करने उपरांत फरार हो गये थे ।

बाद में मुख्य सरगना को घोर नक्सल क्षेत्र गढ़चिरौली महाराष्ट्र के अंदरूनी गांव में लूटे गये रकम से किराये का घर लेकर 03-04 दिन से रह रहे समीर बैरागी निवासी पीव्ही 42 को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ किया गया। उसने बताया कि नारायण दास निवासी पीव्ही 57 द्वारा मोटर सायकल में फॉरेस्ट कालोनी में जाकर पूर्व में ही भारत सलाम के घर का रेकी कर घटना को अंजाम दिया है।

नारायण दास से पूछताछ करने पर बताया कि फॉरेस्ट कालोनी के रहवासी प्रभास महलदार जो डिप्टी रेंजर के चार पहिया चलाता है के द्वारा बताया है कि उनके कॉलोनी में रहने वाले भारत सलाम के घर के पूजा रूम में स्थित आलमारी में रखा है। प्रभास डिप्टी रेंजर का गाड़ी चलाते हुए कई बार फॉरेस्ट विभाग का पैसा बैंक से लाया है।

प्रभास के बताये अनुसार नारायण दास के सहयोग से उक्त घटना का योजना बनाते हुए दुर्ग के रहने वाले पिकअप ड्राईवर चन्द्रषेखर उर्फ शेखर जो अपने मालिक के लिए मछली खरीदने दुर्ग से पखांजूर आता है जिसका सहयोग लिया गया, चन्द्रशेखर घटना को अंजाम देने में सहयोग करने के लिए दुर्ग से 3 अन्य लोगों को भी लाया था। पुलिस सायबर टीम कांकेर व स्थानीय मुखबीर के माध्यम से सभी आरोपी डकैत व उनके सहयोगी को पखांजूर पुलिस को गिरफ्तार करने में महत्वपूर्ण सफलता मिली है। 06 लूटरों को योजना बनाने में और 02 व्यक्तियों को डकैती में सहयोग कर षंडयंत्र करने पर प्रकरण में धारा 120(बी) भादवि. जोड़ी गई।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS