कान्हा की तरफ विकसित होगा अचानकमार..वन मंत्री ने अटल से कहा..स्टीमेट भेजों..देर नहीं होगी ..पर्यटन मंडल अध्यक्ष ने बताया..राजमेरगढ़ को बनाएंगे आकर्षक..डॉ.महंत ने कहा करेंगे मदद

बिलासपुर—-पर्यटन मंडल विकास बोर्ड चैयरमैन अटल श्रीवास्तव विधानसभा अध्यक्ष डाॅ.चरणदास महंत और वन मंत्री मोहम्मद अकबर से सौजन्य मुलाकात कर आभार जाहिर किया है।  इस दौरान दोनों नेताओं ने छत्तीसगढ़ में पर्यटन एवं पर्यटकों की सुविधा के लिए हर प्रकार के सहयोग का आश्वासन भी दिया।

                     छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने अपने नियुक्ति और पदभार के बाद विधानसभा अध्यक्ष डाॅ.चरणदास महंत और वनमंत्री मोहम्मद अकबर से निवास पहुंचकर मुलाकात की है। अटल श्रीवास्तव ने दोनों नेताओं के प्रति आभार जाहिर कर आशीर्वाद मांगा। दोनों नेताओं ने हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया। 

        विधानसभा अध्यक्ष डाॅ.चरण दास महंत ने अटल श्रीवास्तव की नियुक्ति पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि बिलासपुर और सरगुजा संभाग को बहुत उम्मीदें है। डाॅ. महंत ने बताया कि छत्तीसगढ़ में पर्यटकों के लिए पर्यटन की अपार संभावनाएं है। योजनाबद्ध तरीके से कार्य करने की आवश्यकता है। जांजगीर, कोरबा, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही और सरगुजा का उल्लेख करते हुए कहा कि सतरेंगा, राजमेढ़गढ़, मैनपाट आदि स्थानों के अलावा रतनपुर मां महामाया, चैतुरगढ़ आदि स्थानों के आसपास भी पर्यटन स्थल विकसित किये जा सकते हैं। खूंटाघाट को लेकर भी योजनायें बनाई जा सकती है। उन्होंने अटल श्रीवास्तव से कहा कि क्षेत्र में विकास के लिए जो भी आवश्यकता होगी, मैं सलाह के साथ-साथ पूर्ण सहयोग करूंगा।

                वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने राजनांदगांव, कवर्धा, गौरेला पेण्ड्रा मरवाही, बिलासपुर समेत अन्य जगहों का उल्लेख करते हुए कहा कि पर्यटन एवं पर्यटकों के विकास हेतु वन मंत्रालय पर्यटन विभाग के साथ रहेगा। राजमेढ़गढ़ , भोरमदेव और अचानकमार को लेकर लंबी चर्चा की। मो.अकबर ने कहा कि अचानकमार को राष्ट्रीय उद्यान कान्हा पार्क के दर्ज पर विकासित करेंगे। राजमेढ़गढ़ में वन विभाग पर्यटन के दृष्टिकोण से सारी सुविधायें उपलब्ध कराया जाएगा।

             पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने वनमंत्री मोहम्मद अकबर को बताया कि राजमेढ़गढ़ को सड़क और भवन की सुविधा देकर अमरकंटक के बराबर लाया जा सकता है।  आसपास के पहाड़, जंगल की वादियों को देखने और रहने के लिए पर्यटक आने लगेंगे।  अचानकमार को लेकर अटल श्रीवास्तव ने  बताया कि राष्ट्रीय उद्यान कान्हा पार्क के मुकाबले का होगा।  बाघ संरक्षण कर बाघों की संख्या बढ़ायी जाएगी।  कुकदूर की ओर नया गेट खोला जाएगा।  टाईगर रिजर्व जंगल पर्यटकों को आकर्षित करेगा। मो.अकबर ने कहा कि पर्यटन मंडल की ओर से योजनाबद्ध विकास और स्टीमेट बनाकर दें। , वन मंत्रालय किसी भी प्रकार का विलंब नहीं करेगा। कवर्धा, राजनांदगांव, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिला समेत पूरे छत्तीसगढ़ राज्य में पर्यटन की अपार संभावनाएं है।

             डाॅ.चरणदास महंत एवं मो.अकबर ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की विशेष पहल पर राम वन पथ गमन योजना पर अटल श्रीवास्तव को काम करने को कहा। दोनों नेताओं से मुलाकात के दौरान अटल श्रीवास्तव के साथ प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय, प्रदेश सचिव आशीष सिंह ठाकुर, जिला सहकारी बैंेक अध्यक्ष प्रमोद नायक, लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह, बिल्हा प्रत्याशी राजेन्द्र शुक्ला, प्रदेश सचिव महेश दुबे, रायगढ़ के जगदीश मेहर और हरेराम तिवारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *