अतिरिक्त पुलिस कप्तान..दीपमाला ने कहा..खुद पर रखें विश्वास…बताया…कैसे होता साइबर अपराध.. सभी छात्राओं को कराया.अभिव्यक्ति एप डाउनलोड

बिलासपुर—शासकीय बिलासा कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय  में महिला उत्पीड़न उन्मूलन एवं शिकायत निवारण समिति के बैनर तले साइबर प्लेटफार्म पर महिला अपराधों से बचाव के उपाय” विषय पर व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया। पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर रेंज कार्यालय में पदस्थ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दीपमाला कश्यप ने महिला अपराध से जुड़ी एक एक गतिविधियों को प्रभावी तरीके से पेश किया। कार्यक्रम में अतिरिक्त पुलिस कप्तान प्रमुख वक्ता के साथ ही बतौरा मुख्य अतिथि शिरकत किया। 
 
                    कार्यक्रम में अतिरिक्त पुलिस कप्तान दीपमाला कश्यप ने टीम के साथ साइबर से जुड़े अपराध और बचाव पर प्रभावशाली तरीके से बातों को सबके सामने रखा। उन्होने इस दौरान ऑडियो विजुअल के माध्यम से साइबर अपराध की गतिविधियों को विस्तार से बताया। 
 
        दीपमाला कश्यप ने बताया कि वर्तमान समय में प्रचलित सोशल मीडिया फेसबुक, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, ईमेल के  माध्यम से अपराधी अपने मंसूबों को अंजाम दे रहे हैं। हमें हर पल सतर्क रहने की जरूरत है। दीपमाला कश्यप ने सायबर अपराध के तरीकों पर भी प्रकाश डाला। बताया कि ना केवल साइबर बल्कि सभी प्रकार के अपराध से बचने का सबसे पहला उपाय सावधानी है।
           अतिरिक्त पुलिस कप्तान ने साइबर अपराध से जुड़ी तकनीकी पहलुओं को बहुत ही सरल अंदाज में पेश किया। खासकर महाविद्यालय की छात्राओं को आत्मविश्वास के साथ सावधान रहने को कहा। इस दौरान कालेज की छात्राओं ने दीपमाला कश्यप से साइबर अपराध से जुड़े सवाल भी किए..वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बहुत ही  प्रभावशाली अंदाज में जवाब भी दिया। कार्यक्रम में सायबर टीम ने भी हिस्सा लिया। निरीक्षक किरण ने डेमोस्ट्रेशन कर अपराध नियंत्रण के बारे में बताया। अभिव्यक्ति ऐप डाउनलोड करने को कहा। 
 
             साइबर टीम ने महिला सुरक्षा को लेकर बनायी गयी रक्षा टीम के बारे में भी बताया। यह भी बताया गया कि घटना की तत्काल जानकारी से अपराध पर नियंत्रण और  हुई हानि की भरपाई आसान होती है। कार्यक्रम में मौजूद सभी लोगों ने रक्षा टीम का नंबर  9399021091 को एक दूसरे से साझा किया। 
 
             कार्यक्रम में बिलासा कन्या महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. ज्योति रानी सिंह, महिला उत्पीड़न एवं शिकायत निवारण समिति की संयोजक डॉ अंबुज पांडेय एवं पदाधिकारी डॉ गीता सिंह, डॉ आशा कबीर, श्रीमती तृप्ति टंडन डॉ सीमा पाण्डेय के साथ ही महाविद्यालय के वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. डी डी कश्यप, डॉ मधुलिका सिन्हा और अन्य विशेष लोग लोग विशेष रूप से शामिल हुआ।
 
                  कार्यक्रम का संचालन समिति संयोजक डॉ अंबुज पांडेय, स्वागत भाषण और  मुख्य वक्ता का परिचय डॉ. सीमा पांडेय ने कराया। आभार प्रदर्शन डॉ. गीता सिंह ने किया। महाविद्यालय की छत्राओं की अधिकाधिक सहभागिता ने कार्यक्रम की सफलता सुनिश्चित कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *