आधारशिला स्कूल की पहल – प्राचार्या ने घर-घर जाकर पेरेंट्स से मुलाक़ात की… तो मिले कई सार्थक सुझाव, ऑनलाइन शिक्षा के साथ ऑफलाइन मेंटरिंग का सफल प्रयोग


बिलासपुर । आधारशिला स्कूल की प्रबंधन टीम यह महसूस किया कि अभिभावकों से मिलकर बात करना आवश्यक है | कोरोना की वजह से विगत डेढ़ वर्ष में आमने-सामने मिलना बहुत कम हो पाया है | ऑनलाइन मीटिंग में कुछ बातें अभिभावक सहजता से नहीं कह पाते | अतः आधारशिला विद्या मंदिर के निर्देशक एस. के. जनास्वामी एवं प्राचार्या श्रीमती जी. आर. मधुलिका ने बच्चों के घर -घर जाकर उनके अभिभावकों से मिलकर बालक/बालिका से संबंधित अकादमिक व व्यक्तिगत विकास के मुद्दों के संबंध में बातचीत की |

इस मुलाक़ात के दौऱान जिन बच्चों से निरंतर उपस्थिति व असाइनमेंट मिल रहा है – उनका प्रोत्साहन किया गया | साथ ही, जो बच्चे ऑनलाइन कक्षा में  निरंतर प्रतिभाग नहीं कर रहे – उनकी समस्या को समझा गया | इस क्रम में अभिभावकों से बच्चों की अच्छाई व कमियों पर खुलकर बात हुई और कमियों के निवारण के लिए विभिन्न सुझाव बताये गए | जैसे – अपनी क्षमताओं के अनुरूप दिनचर्या बनाना व उसका पालन करना, कक्षा से पहले पाठ पढना व महत्पूर्ण बिंदु व प्रश्न नोट करना, शिक्षकों से प्रश्न पूछना , असाइनमेंट समय पर करना, क्लास के साथियों से फ़ोन पर चर्चा, योग सत्रों में नियमित प्रतिभाग, अदि । प्राचार्या श्रीमती जी. आर. मधुलिका ने कहा कि स्कूल के प्रयासों को बेहतर बनाए रखने के लिए अभिभावकों का फीडबैक आवश्यक है | ऑनलाइन कक्षाओं को न सिर्फ बच्चे देख रहे होते हैं बल्कि कई बार अभिभावक भी यह समझ रहे होते हैं कि उनके बच्चों को किस प्रकार पढाया जा रहा है | अतः उनके सुझाव महत्वपूर्ण हैं |
ऑनलाइन शिक्षण की प्रक्रिया में कई बार शिक्षक व्यक्तिगत रूप से कॉल के माध्यम से बच्चों से संपर्क करते रहे हैं व उन्हें उपयुक्त सुझाव/प्रोत्साहन देते रहे हैं | इस क्रम में स्कूल द्वारा समय-समय पर शैक्षणिक गोष्ठियों का आयोजन कराया जाता है | कोविड-19 के चलते अभी तक ऑनलाइन कार्यक्रम भी कराते रहे हैं। पर यह प्रयास बिलकुल अलग रहा – विद्यालय के निर्देशक व प्राचार्या को घर आकर मिलते देखकर अभिभावकों ने अत्यंत खुशी जाहिर की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *