टीका लगवाने के बाद वरिष्ठों ने कहा..पूरी तरह सुरक्षित..संक्रमम से बचने करें निर्देशों का पालन

बिलासपुर—– शुक्रवार 16 अप्रैल को जिले के 171 टीकाकरण केंद्रों में हजारों लोगों ने टीका लगवाया। नगर निगम क्षेत्र के 40 टीकाकरण केन्द्रों में भी टीका लगवाने वालों की भीड़ देखने को मिली। 18 निजी अस्पतालों में भी 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों उत्साह के साथ टीका लगवाया। जिला स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शुक्रुार को  टीका लगवाने वालों में सबसे ज्यादा 60 साल से अधिक आयु वाले देखे गये।
 
                   जिला स्वास्थ्य महकमे ने बताया कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के टीकाकरण केन्द्र पहुंचकर बड़ी संख्या में लोगों ने टीका लगवा रहे है। शुक्रवार को देखने में आया कि ज्यादातर टीका लगवाने वालों की उम्र 60 साल या इससे अधिक थी।
 
               नूतन चौक स्थित आयुर्वेदिक अस्पताल में टीका लगवाने पहुंची 66 साल की महिला विमला मिश्रा  ने  बताया कि कोरोना संक्रमण को लेकर सुरक्षित होने के लिए टीकाकरण बहुत जरूरी है। कोविड का प्रथम डोज का टीका लगवाया है। आधा घण्टा मुझे कोविड प्रोटोकाल के तहत् आब्जर्वेशन में रखा गया। टीका लगवाने में किसी प्रकार परेशानी नहीं हुई। विमला ने कहा कि सभी पात्र लोगों को टीका लगवाना चाहिए।
 
              जोरापारा निवासी कमलेश मिश्रा 56 वर्षीय गृहणी हैं। उन्ोने बताया कि हम लोग हमेशा मास्क लगाते हैं और सेनेटाईजेशन करते हैं। टीके के दोनों डोज भी लगवा ले  तो करोना संक्रमण की गंभीरता काफी कम हो जायेगी। 62 वर्षीय रामधन पांडे ने अनुभव साझा किया कि  शुरुवात में तो उन्हें टीका लगवाने में डर लग रहा था। लेकिन कुछ परिचितों ने टीका लगवाने के बाद बताया कि टीका पूरी तरह सुरक्षित है। करोना से बचाव में टीका कारगर है । उन्होंने कहा कि टीका लगवाने के बाद मैं भी सुरक्षित महसूस कर रहा हूं।
 
              50 वर्षीय अंजू पांडे ने कहा कि टीकाकरण की व्यवस्था अच्छी है। सुरक्षित तरीके से टीका लगाया जा रहा है। 56 वर्षीय शिवराज सिंह ने बताया कि कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी को टीका अवश्य लगवाना चाहिए। टीका लगवाने के बाद भी मास्क लगाना, फिजिकल डिस्टेंसिंग और सेनेटाईजेशन जैसे नियमों का पालन करना जरूरी है।

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *