बलवा के बाद पुणे में छिपे थे तीनों आरोपी..पुलिस टीम ने सभी को किया गिरफ्तार..भेजा गया जेल

बिलासपुर—.कोरमी ग्राम में बलवा और हत्या मामले में सिरगिट्टी पुलिस ने फरार आरोपियों को किया गिरफ्तार किया है। घटना को अंजाम देने के बाद फरार तीनों आरोपी गुलाब गार्डन पुणे में मजदूरी काम कर रहे थे। पुलिस खुलासे में एडिश्नल एसपी उमेश कश्यप ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज और अन्य तकनीकी प्रमाण के सहयोग से पकड़ा गया है।
 
           सिरगिट्टी थाना क्षेत्र के कोरमी गांव में बलवा और हत्या के आरोपी को पुणे स्थित गुलाब गार्डन क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है। मामले में खुलासा करते हुए एडिश्नल एसपी उमेश कश्यप ने बताया कि 8 अगस्त कोरमी गांव में बलवा हुआ था। प्रार्थी अमन यादव की शिकायत पर प्रकरण दर्ज किया गया। बलवा में उमेश यादव को अधिक चोट पहुंची। जिसकी इलाज के दौरान रायपुर में मौत हो गयी। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस टीम ने तीन आरोपियों को पूर्व में गिरफ्तार कर लिया गया था। लेकिन तीन अन्य आरोपी रिपोर्ट दर्ज होने के बाद फरार हो गए थे।
 
                     घटनाक्रम को गंभीरता से लेते हुए पुलिस कप्तान दीपक कुमार झा ने सिरगिट्टी पुलिस और तकनीकी शाखा की तीन सयुंक्त टीम बनाकर आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी का निर्देश दिया। एडिश्नल एसपी उमेश ने बताया कि आरोपियों की पतासाजी कर टीम ने बिलासपुर के सरहदी जिलों और आरोपियों के छिपे होने के संभावित जगहों पर धावा बोला। सीसीटीवी खंगाला गया। इसी दौरान सिरगिट्टी पुलिस को सूचना मिली कि घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी दूसरे राज्य को फरार हो गए हैं। पतासाजी के दौरान पता चला कि फरार आरोपी तेलंगाना
होते हुए पुणे भाग गए हैं। पहचान छिपाने और अपने खर्च को पूरा करने के लिए कामसेत नामक स्थान पर गुलाब गार्डन में मजदूरी कर रहे हैं। 
 
               पुणे पहुंचकर पुलिस की 5 सदस्यीय टीम ने घेराबंदी कर फरार तीनो आरोपियों को हिरासत में लिया। पूछताछ के दौरान फरार आरोपियों ने बताया कि घटना सामान्य वाद विवाद के बड़ा रूप ले लिया। हम लोगोें ने मिलकर लाठी डंडे से हमला किया। डायल 112 को फोन करने के बाद मौके से फरार हो गए।
 
              उमेश कश्यप ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा
307, 147, 148, 294, 323, 506 का अपराध दर्ज किया गया। पकड़े गए सभी आरोपियों को न्यायिक रिमाण्ड में जेल भेजा गया है। 
 
                    पकड़े गए तीनों आरोपियों के नाम जितेंद्र भार्गव पिता कैलाश भार्गव, राजकुमार धुरी पिता दीनदयाल धुरी, और विशाल बंजारे पिता जीतू बंजारे ग्राम कोरमी थाना सिरगिट्टी है। 
 
                            सम्पूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी सिरगिट्टी फैजुल शाह की अगुवाई में उपनिरीक्षक धर्मेंद्र वैष्णव,सहायक उपनिरीक्षक अशोक चौरसिया, वन जायसवाल प्रधान आरक्षक अशोक कश्यप,  आरक्षक मिथलेश सोनी अशफाक खान, बोधुराम कुम्हार, रंजीत खलखो, धनराज
कुम्भकार, कमलेश शर्मा का सराहनीय योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *