तीन महीने बाद सुलझ गयी गुत्थी..बाप की हत्या में बेटा और सगा भाई शामिल..तीसरे ने बताया..1 ने किया डाटा डिलीट..दूसरे आरोपी ने छिपाया औजार

बिलासपुर— चकरभाठा पुलिस ने तीन महीने पहले हुई हत्या की गुत्थी को सुलझा लिया है। तीन आरोपियों को आईपीसी की धारा 302 ,34 का अपराध दर्ज किया गया है। पकड़ेगए तीनों आरोपियों को कोर्ट के सामने पेश कर जेल दाखिल कराया गया है। 
 
पकडे गए तीनों आरोपियों के नाम
1).संग्राम यादव निवासी डोगरी थाना बलौदा जांजगीर चांपा वर्तमान पता कमला गार्डन तिफरा।
2) संतोष कौशिक पिता स्व ठुमुकराम उम्र 45 वर्ष (मृतक का भाई) निवासी परसदा चकरभाठा।
3) विशाल कौशिक पिता स्व0 भगतराम कौशिक निवासी परसदा थाना चकरभाठा बिलासपुर। 
 
                 चकरभाठा थानेदार मनोज नायक ने बताया कि पुलिस टीम ने परसदा में तीन महीने पहले अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझा लिया है। पुलिस कप्तान पारूल माथुर और अतिरिक्त पुलिस कप्तान उमेश कश्यप के निर्देश पर टीम ने जांच पड़ताल को अंजाम दिया। हत्या में शामिल दो लोगों के अलावा मृतक के भाई को भी गिरफ्तार किया है।
 
        विवेचना के दौरान तकनीकि जानकारी और मुखबीर की सूचना पर एक बढ़ई को पकड़ा गया। जानकारी मिली कि घटना के दिन एक बढ़ई परसदा स्थित मृतक के नया मकान में काम करता था। बढ़ई हत्या की घटना में शामिल है।
 
               मनोज नायक ने बताया कि खबर के बाद बढ़ई को पकड़ा गया। पूछताछ के दौरान बढई ने बताया कि भगतराम कौशिक की हत्या में उसका भाई शामिल है। घटना को म़तक का भाई संतोष कौशिक और मृतक का बेटा विशाल कौशिक भी शामिल है। हत्या के बाद विशाल कौशिक ने ही औजार को छपाया। इसके अलावा उसने मृतक पिता भगतराम कौशिक के मोबाईल से जानकारियों को भी डिलिट किया है।
 
                 पुलिस ने हत्या में शामिल तीनों आरोपिोयं को गिरफ्तार किया। साथ ही हत्या में उपयोग किए गए औजार को भी बरामद किया है। तीनों आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार करन्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *