जानलेवा लापरवाही! यहाँ फिर बढ़ने लगी कोरोना से मौतें, पॉजिटिविटी रेट भी करीब एक फीसदी बढ़ा

कोरोना के मामले (Corona Cases)  कम होने के बाद सरकारों ने छूट देनी शुरू कर दी थी. जिसके बाद लोगों ने लापरवाही बरतनी भी शुरू कर दी. इसी का नतीजा है कि पुणे (Pune) शहर में पिछले कुछ हफ्तों में साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट में वृद्धि देखी गई है (Positivity Rate Increased). यही नहीं मृत्यु (Death Rate) दर में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है.पुणे शहर में एक हफ्ते में डेथ रेट 1.79 प्रतिशत से थोड़ा बढ़कर 1.8 प्रतिशत हो गया है. पुणे महानगर पालिका (पीएमसी) 2 से 8 जुलाई तक 2110 नए मरीज दर्ज किए. जो 25 से 1 जुलाई के बीच 1977 थे. 18-24 जून के बीच 1729 थे. साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 18-24 जून वाले हफ्ते में 4.77 प्रतिशत से बढ़कर 25 जून- 1 जुलाई के बीच 4.89 हो गई. वहीं 2-8 जुलाई वाले हफ्ते में पॉजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत हो गया है.

एक हफ्ते में 42 मरीजों ने तोड़ा दम

वहीं 2 से 8 जुलाई तक कुल 42 मरीजों ने वायरल संक्रमण से दम तोड़ दिया, जबकि 1831 ठीक हो गए और 2110 नए मामले सामने आए. इस हफ्ते शहर में म्यूकोर्मिकोसिस के पांच नए मामले सामने आए. राहत की बात ये रही कि म्यूकोर्मिकोसिस संक्रमण के कारण कोई मौत नहीं हुई. पुणे शहर के कुल 15 वार्ड कार्यालयों में से, चार वार्ड कार्यालयों के अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों में इस हफ्ते 200 से अधिक नए मामले दर्ज किए गए. जिनमें से अधिकतम 300 धनकवाड़ी-सहकारनगर में, 291 सिंहगढ़ रोड में, 240 हडपसर-मुंधवा में और 200 औंध-बानेर में हैं.

READ MORE..GPF Slip- सामान्य भविष्य निधि लेखा पर्ची वेबसाईट पर उपलब्ध,ऐसे करे चेक

PMC में 2941 एक्टिव केस

छह वार्ड कार्यालयों में 100 से अधिक नए मामले थे, जबकि केवल पांच वार्ड कार्यालयों ने 100 से कम नए मामले दर्ज किए, जिनमें वानावाड़ी-रामटेकडी में सबसे कम 39 मामले दर्ज किए गए. गुरुवार तक, पीएमसी क्षेत्रों में कुल 2941 एक्टिव मरीज थे, जिनमें 1447 होम आइसोलेशन में, 30 कोविड केयर सेंटर में और 1464 शहर के विभिन्न अस्पतालों में थे. जिनमें सरकारी अस्पतालों में 617 और निजी अस्पतालों में 847 मरीज भर्ती थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *