समाजसेवी परिवार ने समर्पित किया 5 आक्सीजन कन्स्ट्रेटर मशीन..कलेक्टर ने कहा..लोगों के सहयोग से जीतेंगे जंग..रीतेश ने बताया..अच्छा लगा

बिलासपुर— इन्दू इंटरप्राइजेस संचालक मंडल सदस्य शैलेश अग्रवाल की तरफ से उनके भाई रीतेश अग्रवाल ने आज कलेक्टर निवास कार्यालय पहुंचकर आक्सीजन कन्स्ट्रेटर के पांच मशीन डोनेट किया है। कलेक्टर डॉ.सांरांश मित्तर ने कहा कि हम जनसहयोग से कोरोना से जंग जरूर जीतेंगे। ऐसी विपरीत परिस्थितियों में निश्चित रूस से यह मशीन किसी न किसी के जीवन की रक्षा करेगी। इस प्रकार के लगातार मिल रहे सहयोग से प्रशासन को ताकत मिली हैं। 
 
                         इंदू इंटरप्राइजेज संचालक मंडल सदस्य रीतेश अग्रवाल ने आज कलेक्टर निवास कार्यालय पहुंचकर डॉ.सारांश मित्तर को आक्सीजन कान्स्स्ट्रेटर की पांच मशीन डोनेट किया है। अनिल अग्रवाल  ने बताया कि कलेक्टर महोदय ने हमें मिलने का मौका दिया। मिलकर बहुत खुशी हुई है। 
 
                   पांच मशीन डोनेट किये जाने पर कलेक्टर डॉ.सारांश मित्तर ने बहुत खुशी जाहिर की है। उन्होने कहा कि हम जनसहयोग से जंग जरूर जीतेंगे। लोगों से आम जनता के लिए लगातार सहयोग मिल रही है। आक्सीजन कन्सट्रेटर मशीन चालू होने के बाद वातावरण में उपस्थित आक्सीजन को अवशोषित करता है। यही आक्सीजन वेन्टीलेटर के माध्यम से मरीज को मिलता है। 
 
               बताते चलें कि प्रत्रकार प्रदीप आर्य की मौत के बाद लोगों को आक्सीजन की कमी का अहसास हुआ। इसके बाद आक्सीजन कन्स्ट्रेटर की उपयोगिती बढ़ गयी है। इसी क्रम में समाज सेवा और महामृत्युजन्य आश्रम से जुड़े अग्रवाल परिवार के सदस्य शैलेश अग्रवाल ने छोटे भाई रीतेश अग्रवाल के माध्यम से जनहित में कीमती पांच नग आक्सीजन कन्स्ट्रेटर मशीन आम जनता के नाम कलेक्टर को समर्पित किया है। 
 
                                जानकारी देते चलें कि आक्सीजन कन्स्ट्रेटर एक विशेष प्रकार का आक्सीजन वेन्टिलेटर है। यह मशीन पोर्टेबल है। इसे सिर्फ बिजली से रिचार्च करना होता है। मशीन के एक पार्ट से आक्सीजन पाइप और मास्क जुड़ा होता है। आक्सीजन कन्स्ट्रेकर  मशीन में विशेष तकनिकी से वातावरण का आक्सीजन अवशोषित होता है। यही आक्सीजन वेन्टीलेटर पाइप के माध्यम से मरीज तक पहुंचता है। इसमें किसी प्रकार का अन्य कोई खर्च नहीं है।केवल मशीन को बिजली से रिचार्ज करना होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *