मेरा बिलासपुर

न्याय के चार साल, किसान होंगे समृद्ध,कुनकुरी विधानसभा में खोला गया क़ृषि और उद्यानिकी महाविद्यालय

दृढ निश्चय,सामर्थ्य, सकारात्मक सोंच, और सार्थक प्रयास से सफलता जरूर मिलती है, कुनकुरी के विधायक और संसदीय सचिव यू.डी. मिंज के कर्मठता का लाभ कुनकुरी विधानसभा क्षेत्र के साथ जिले के किसानों को जरूर मिलेगा।उन्होंने अपने सकारात्मक सोंच और बेहतर प्रयास की बदौलत जिले के युवाओं को क़ृषि और उद्यानिकी के क्षेत्र में समृद्ध करने ऐसा मंच स्थापित कर दिया है जो क़ृषि और उद्यानिकी के विद्यार्थियों को बुलंदियों पर लेकर जायेगा ही इसका लाभ उनके अभिभावक किसानों को भी आजीवन मिलता रहेगा जिससे क्षेत्र के साथ उनकी भी तरक्की होगी और जीवन खुशहाल होगा. तब जिले के किसान विधायक और संसदीय सचिव यू.डी. मिंज और प्रदेश के किसान पुत्र यशस्वी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को अपना साधुवाद देकर कृतज्ञता प्रकट जरुर कर सकेंगे और इन उपलब्धियों का महत्व समझ सकेंगे.

क्षेत्र के विकास और जनता के लिए समर्पित संसदीय सचिव यू. डी. मिंज ने
इस दिशा में काम करते हुए सर्वप्रथम कृषि महाविद्यालय की सौगात देकर भविष्य में कृषि के क्षेत्र में अध्ययन के साथ अनुसंधान और उन्नत खेती की ओर किसानों को लेकर जायेगा जो कृषि क्षेत्र में प्रगति के नए अवसर प्रदान करेगा। इससे भविष्य में जशपुरांचल कृषि क्षेत्र में नए सोपान की ओर बढ़ेगा। किसान समृद्ध होगा और आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनेगा।

विधायक की जैसी सोंच है,वैसी ही उपलब्धि ,उन्होंने दूसरी बड़ी सौगात उद्यानिकी महाविद्यालय के रूप क्षेत्र की जनता की दी है ।जशपुर जिला अपने जलवायु के लेकर अनोखा है इस दृष्टिकोण से जब छत्तीसगढ़ सरकार के मुखिया माननीय भुपेश बघेल ने जब उद्यानिकी विश्विद्यालय का अध्यादेश विधानसभा के पटल पर लाकर सर्वसम्मति से पारित कराया उसी वक्त विधानसभा में धन्यवाद के रूप जशपुर के विशिष्ट जलवायु के बारे में अवगत कराते हुए यह बताया कि पूरे मध्य भारत मे जशपुर जैसी विविधता किसी और जिले में पूरे मध्य भारत मे नहीँ है और यहाँ का तापमान माईनस 3-4 डिग्री से लेकर 44 डिग्री तक है । सामान्य दिनों में निचले जशपुर में तापमान 25 डिग्री है तो वहीँ ऊपर जशपुर में तापमान 15 डिग्री रहता है तीन प्रकार की जलवायु जिले को उत्कृष्ट बनाती है.

घर घुसकर नाबालिग से अनाचार की कोशिश....आरोपी ने कहा...प्यार करता हूं...पास्को एक्ट के तहत मामला दर्ज

इस कारण यहाँ सभी प्रकार के उद्यानिकी फसलें हो सकती है जैसे स्ट्राबेरी, पपीता, शरीफा, रामफल, नाशपाती ,अनार, संतरा, मौसमी,सेब, अंजीर, काजू चीकू, अनानाश,टमाटर, मिर्ची, जामुन आम, बेर, कटहल, नारियल जैसी विभिन्न मौसमी फसले हो सकती है जिसमे से अधिकांश का उत्पादन हो रहा है । इसी के साथ घर की जलवायु चाय और काफी के लिए भी अनुकूल है भविष्य में इसके रिसर्च के लिए लाभदायक होगा किसानों की प्रगति होगी। माननीय मुख्यमंत्री जी ने जशपुर टी-कॉफी बोर्ड का गठन कर इसे और व्यापक रूप में ले जाने का प्रयास किया है। भविष्य में जशपुर जिले की चाय और काफी की महक पूरे देश मे फैलेगी।

किसानों को समृद्ध करने विधानसभा क्षेत्र में 61आधुनिक बाड़ी का विकास

विधायक यूडी मिंज के नई अभिनव सोंच से स्थानीय स्तर पर व्यवस्था करके विधानसभा क्षेत्र के तीनों विकासखंड में किसानों की 61उन्नत बाड़ी का विकास किया जा रहा है जिससे किसानों को लाभ होगा तीनों ब्लॉक में जलवायु अनुकूल फसल लगाया जा रहा है इससे किसान समृद्ध होंगे। इसके साथ ही उन्होंने धान के साथ दलहन फसलों के लिए प्रेरित किया और मक्का अरहर आदि के बीज का वितरण किया है इसप्रकार से उन्होंने किसानों को दो फसल के लिए प्रेरित कर उनकी आमदनी बढ़ाने का प्रयास किया है। उन्होंने सभी किसानों को अपनी एक्पर्ट टीम के साथ समूह बनाकर लगातार प्रशिक्षित करने का काम किया है।

सिंचाई के लिए दो बड़े डेम की स्वीकृति

किसानों के खेत में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए दो बड़ी परियोजना डाँड़पानी और शेखरपुर की स्वीकृति दिलाई है जिससे निचले क्षेत्रों में सिंचाई की सुविधा पर्याप्त मिलेगी कुनकुरी पत्थलगांव फरसाबहार क्षेत्र के 80 हैक्टेयर क्षेत्र की सिंचाई होगी। इसके स्वीकृति के लिये उन्होंने काफी मेहनत की है

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS