एडेड माध्यमिक कॉलेजों में क्लर्क बनने का अवसर, जानें कौन कर सकेंगे आवेदन

Yogi Adityanath, Ayodhya Case, Supreme Court, Up Police, Uttar Pradesh,

लखनऊ-उत्तर प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है. अब अशासकीय सहायता प्राप्त (एडेड) माध्यमिक कॉलेजों में बेरोजगार युवा क्लर्क बन सकते हैं, लेकिन अब इसके लिए युवाओं को ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी. योगी सरकार ने एडेड माध्यमिक कॉलेजों में लिपिक भर्ती को लेकर पारदर्शी व्यवस्था लागू कर दी है. एडेड माध्यमिक कॉलेज के प्रबंधन अब अपने रिश्तेदारों या नातेदारों को क्लर्क नहीं बना सकते हैं. अगर आपको कॉलेजों में क्लर्क बनना है तो इसके लिए आपका आयोग की परीक्षा पास करनी पड़ेगी.

यूपी अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC) की ओर से हर साल प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (PET) कराई जाती है. पीईटी में पास होने वाले उम्मीदवार ही लिपिक भर्ती में शामिल हो सकेंगे. लिपिक पद के लिए वे अभ्यर्थी ही आवेदन कर सकेंगे, जिनके पीईटी में 50 फीसदी अंक होंगे. इसके बाद पद के सापेक्ष आवेदकों की पीईटी में प्राप्त अंकों के हिसाब से मेरिट बनेगी और एक पद के लिए 10 अभ्यर्थियों को टंकण परीक्षा (टाइपिंग टेस्ट) बुलाया जाएगा. 

जो उम्मीदवार इस टंकण परीक्षा में पास होंगे उन्हें साक्षात्कार के लिए बुलाया जाएगा. एक पद के लिए तीन उम्मीदवार ही इंटरव्यू में शामिल होंगे. कॉलेज प्रबंधक की अध्यक्षता में गठित पांच सदस्यीय चयन समिति अभ्यर्थियों का इंटरव्यू लेगी. ये सभी प्रक्रिया होने के बाद अंत में पीईटी के 80 फीसदी और इंटरव्यू के 20 फीसदी अंकों के आधार पर मेरिट लिस्ट बनेगी और इसमें सफल अभ्यर्थी को ही नियुक्ति दी जाएगी.अब बड़ा सवाल यह है कि लिपिक भर्ती में सिर्फ पीईटी 2021 के अभ्यर्थी ही शामिल होंगे या 15-16 अक्टूबर होने वाली पीईटी 2022 परीक्षा में शामिल होने वाले युवा भी आवेदन कर सकेंगे. एडेड कॉलेजों में क्लर्क पद पर इतनी बड़ी भर्ती कोई भी नहीं छोड़ना चाहता है, इसलिए प्रदेश की योगी सरकार और शिक्षा विभाग को चाहिए कि पीईटी 2022 के रिजल्ट के बाद लिपिक पद की भर्ती प्रक्रिया शुरू करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.