MBBS के दूसरे साल के छात्र ने छठीं मंजिल से कूद कर किया सुसाइड, जांच में जुटी पुलिस

उत्तराखंड (Uttarakhand) के ऋषिकेश अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष में पढ़ने वाले छात्र के आत्महत्या का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि छात्रा ने संस्थान के कॉलेज ब्लॉक की छठी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली. पुलिस के मुताबिक युवक कुछ समय से डिप्रेशन में था और वह राजस्थान का रहने वाला था. फिलहाल इस मामले में पुलिस जांच शुरू कर दी है. उत्तराखंड पुलिस का कहना है कि रजत के सुसाइड के बारे में उसके घर के लोगों को जानकारी दे दी गई है और पोस्टमार्टम के बाद उसके शव को मोर्चरी में रखा गया है. घर वालों से अगर कोई शिकायत मिलेगी तो इस पर जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक राजस्थान जिले के श्रीगंगानगर स्थित महियंवाली गांव निवासी विजय कुमार के 19 वर्षीय रजत मुंड ने सुसाइड किया है. वह एम्स ऋषिकेश में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष का छात्र था और शनिवार को उनका प्रैक्टिकल होना था, लेकिन वह वह प्रैक्टिकल देने नहीं गया. पुलिसका कहना है कि रजत ने एम्स कॉलेज ब्लॉक की छठी मंजिल से छलांग लगा दी और वह फर्श पर गिरने से गंभीर रूप से घायल हो गया. वहां पर मौजूद सुरक्षाकर्मी तुरंत उसे एम्स के इमरजेंसी रूम में ले गए और जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

डिप्रेशन में था रजत

एम्स के चौकी प्रभारी एम्स शिवराम ने बताया कि इस मामले में रजत के रिश्तेदार से फोन पर हुई बातचीत और उसके साथियों से पूछताछ में यह बात सामने आई है कि रजत कुछ समय से डिप्रेशन में था. जिसके कारण उनसे ये कदम उठाया. उन्होंने बताया कि शनिवार को उसका प्रैक्टिकल था और वह वहां नहीं गया और सीधे कॉलेज ब्लॉक की छठीं मंजिल में जाकर उसने नीचे छलांग लगा दी. ।

रजत का चल रहा था इलाज

पुलिस का कहना है एम्स से मिली जानकारी के मुताबिक रजत के इलाज चल रहा था और आशंका जताई जा रही है कि तनाव के चलते उसने आत्महत्या का कदम उठाया है. हालांकि पुलिस को मौके से सुसाइड नोट नहीं मिला है. पुलिस का कहना है कि उसका पोस्टमार्टम किया गया है और शव को एम्स मोर्चरी में रखवाया गया है. इसके साथ ही उसके घर के लोगों को इसके बारे में जानकारी दे दी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *