हवाई सफर हो जाएगा महंगा,जानिए कितना बढ़ सकता है किराया

दिल्ली। हवाई सफर करने वालों को जल्द ही झटका लग सकता है। जेट फ्यूल की कीमतों में ताजा बढ़ोतरी के बाद आने वाले दिनों में हवाई किराए में और बढ़ोतरी हो सकती है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने गुरुवार को एयर टरबाइन फ्यूल जिसे जेट फ्यूल भी कहा जाता है में इजाफा कर दिया है। इस इजाफे के बाद जेट फ्यूल की कीमतें लाइफ टाइम हाइ पर पहुंच गई हैं। निजी विमानन कंपनी स्पाइसजेट के सीएमडी अजय सिंह का मानना है कि परिचालन को बनाए रखने के लिए किराया कम से कम 10-15 फीसदी बढ़ाना जरूरी हो गया है। उन्होंने कहा कि जून 2021 से विमानन ईंधन के दाम 120 फीसदी से ज्यादा बढ़े हैं। यह भारी बढ़ोतरी झेलने लायक नहीं है। केंद्र व राज्य सरकारों को तत्काल एटीएफ पर टैक्स कम करना चाहिए, जो दुनिया में सबसे ज्यादा में से एक है। उन्होंने कहा कि विमानन कंपनियों ने पिछले कुछ महीनों के दौरान एटीएफ की बढ़ती कीमतों का बोझ खुद संभालने का हर संभव प्रयास किया है, लेकिन अब ऐसा करना संभव नहीं रह गया है।

दरअसल, जेट फ्यूल या एयर टर्बाइन फ्यूल (एटीएफ) की कीमत में एक बार फिर से जोरदार इजाफा किया गया है। इसकी की कीमतें 16.3 फीसदी बढ़ा दी गई हैं। गौरतलब है कि यह मार्च 2022 के बाद से सबसे बड़ी बढ़ोतरी है। इसके साथ ही जेट फ्यूल का भाव नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले छह महीने में हवाई ईंधन के दाम में 91 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो चुकी है। इस नए बदलाव के बाद राजधानी दिल्ली में एटीएफ की कीमत 1.41 लाख रुपये प्रति किलोलीटर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है। बता दें कि इस साल 16 मार्च को एटीएफ में सबसे ज्यादा 18.3 फीसदी की बढ़ोतरी की गई थी। फिर एक अप्रैल को भी कीमतों में दो फीसदी तेजी आई। इसके अलावा 16 अप्रैल को 0.2 फीसदी और एक मई को 3.22 फीसदी की वृद्धि की गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *